Breaking (Exclusive वीडियो) राजधानी में अपराधियों का तांडव जारी, स्कूटी सवार ने बलत्कार के आरोपी युवक को उसके ही मार्केट में मारी गई गोली,अस्पताल में भर्ती

बृजभूषण कुमार, ब्यूरो प्रमुख, पटना सिटी 

पटना Live डेस्क। सोमवार की शाम राजधानी पटना के अपराधियों के आपसी भिड़त में देर शाम ताबड़तोड़ दो थाना क्षेत्रों में जमकर गोलियां चली,पहले कुख्यात मंगल डोम को हत्या कर दी गई। वही दूसरी तरफ कंकड़बाग थाना क्षेत्र के विग्रहपुर के रामलखन पथ पर अपने मार्केट में बैठे युवक को स्कूटी पर आए युवक ने बहसबाजी के बाद ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए एक गोली मार दी और फरार हो गया। गोली लगने से वो शख्स गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को आनन फानन में परिजनों ने स्थानीय लोगो के सहयोग से एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया है जहां उसका इलाज जारी है।
दरअसल, घायल युवक दर्ज़नो कांडो और बलात्कार का अभियुक्त है और इलाके में इसकी दहशत है। मिली जानकारी के अनुसार घटना के वक्त कुख्यात धर्मेन्द्र अपने रामलखन पथ स्थित मार्केट में बैठा था। मिली जानकारी के अनुसार तभी स्कूटी और बाइक पर सवार होकर कुछ युवक आये। सभी जान पहचान के लग रहे थे। उनसे बातचीत करते हुए धर्मेंद्र मार्केट के बाहर आ गया। बाहर भी उन सभी के साथ बातचीत कर रहा था। इसी दौरान किसी बातचीत को।लेकर सभी से जोरदार बहस होने लगी। बस के दौरान ही एक युवक ने अचानक 3-4 राउंड फायरिंग कर दी।
फायरिंग की आवाज सुनते ही लोगबाग कुछ समझ पाते कि धर्मेन्द्र ज़मीन पर गिर  गया और फायरिंग करने वाला युवक स्कूटी से चलता बना। गोली लगने से घायल
को आनन फानन में बायपास स्थित एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार गंभीर रूप से जख्मी धर्मेन्द्र के लिवर के नस मारी गई गोली में पंक्चर कर दिया है। बेहद नाजुक हालत में उसको ICU में रखा गया है।

सोनू नामक युवक पर गोली मारने का शक

वही घटना की जानकारी मिलते ही कंकड़बाग थाना पुलिस अस्पताल पहुची और मामले की जांच शुरू करते हुए परिजनों से जानकारी इकट्ठा कर चिन्हित लोगो की गिरफ्तारी खातिर छापेमारी शुरू कर चुकी है। वही सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वाइट ब्लू मिक्स कलर की स्कूटी से आये धर्मेन्द्र के पूर्व से परिचित युवक जिसकी पहचान सोनू के तौर पर की जा रही है जे घटना को अंजाम दिया है।

दर्ज़नो कांडो और बलात्कार का आरोपी है धर्मेन्द्र

                  उल्लेखनीय है घायल धर्मेंद्र ने वर्ष 2014 के अक्टूबर महिने में अपने साथ मुकेश कुमार के साथ मिलकर कंकड़बाग थानान्तर्गत रामलखन सिंह पथ मोड़ सिंह स्थित सिटी हॉस्पिटल की दाई से सामूहिक दुष्कर्म किया था और फिर उक्त महिला को अपनी सफारी कार लेकर भाग निकला। लेकिन तात्कालिक एसएसपी जितेंद्र राणा को पुलिस कप्तान जितेंद्र राणा को शुक्रवार रात करीब 12.30 सिटी हॉस्पिटल के एक कर्मचारी ने सूचना दे दी थी। फिर त्वरित एक्शन लेते हुए पुलिस ने इलाके में नाकाबंदी कर दी। घटना के छह घंटे के भीतर पीडि़ता को बरामद करने के साथ आरोपियों को दबोच लिया था।
पुलिस टीम ने धर्मेंद्र का पीछा करना शुरू किया,तब वह बिग्रहपुर स्थित घर के पास सफारी गाड़ी में पीडि़ता को छोड़कर फरार हो गया। पूरी रात छापेमारी करने के बाद शनिवार भोर में पुलिस टीम ने धर्मेंद्र और मुकेश को मीठापुर इलाके से पकड़ लिया। धर्मेंद्र दर्जनभर कांडों में आरोपी है। धर्मेंद्र की सफारी जब्त कर ली गई। उसके पास से लोडेड देसी पिस्टल व चार जिंदा कारतूस बरामद किया गया। इसके अलावा सोने की चेन, लॉकेट व बाइक जब्त की गई थी। तब एसएसपी ने कांड का स्पीडी ट्रायल कराने की बात कही थी।