दरभंगा: रुपए बचाने के चक्कर में जीआरपी की कारस्तानी,नदी में फेकती है लाश जबकि दाह संस्कार के लिए मिलते हैं पंद्रह सौै

मनोज कुमार/ब्यूरो प्रमुख/मुजफ्फरपुर

पटना Live डेस्क.  जरा इस वीडियो को देखिए..पुल पर खड़े इस एंबुलेंस को देख सामान्य तौर पर कोई यह सोचेगा कि कोई मरीज जा रहा होगा..लेकिन जब आप इसकी असलियत जानेंगे तो आप चौंक जाएंगे.. दरअसल यह एंबुलेंस इस पुल पर किसी खास मकसद से खड़ा है…मकसद है, बस इधर-उधर देखो और इसमें पड़ी लाश को नदी में चुपके से फेंक दो..जिससे काम भी हो जाए और किसी की नजर भी नहीं पड़े…दरअसल हुआ भी यही, इस एंबुलेंस पर बैठे पुलिसवाले और एंबुलेंसकर्मी ने बड़ी आसानी से आसपास की नजरें को बचाकर एक लाश को पुल के नीचे नदी में फेंक दिया..तस्वीरों में आप नदी में बहती लाश को देख आसानी से अंदाजा लगा सकते हैं कि इन तीनों ने साथ मिलकर अपने मकसद को पूरा कर लिया… और इस पुलिस वाले की साफगोई पर आश्चर्य भी कर सकते हैं….इस ऐंबुलेंस पर बैठा पुलिसवाला दरअसल जीआरपी का जवान है जिसे यहां इस नदी में लाश फेंकने के मकसद से भेजा गया है…और इसके साथ एंबुलेंस पर बैठा यह कर्मचारी इसी पुलसिवाले की मदद करने आया है..जब कैमरे की नजर इस एंबुलेंस पर पड़ी तो ये सारे लोग सफाई देने लगे..बातचीत के दौरान ही यह पता चला कि एंबुलेंस पर लावारिस लाकर इनलोगों ने लेहेरियासराय के एकमी पुल के नीचे लाश को पानी में फेंक दिया है….दिल को विचलित करने वाला यह वीडियो इऩ दिनों दरभंगा जिले में वायरल हो चुका है और लोग रेलवे की लावारिस लाशों के प्रति संवदेनहीनता पर सवाल खड़े कर रहे हैं..जबकि रेलवे के नियमों की मानें तो लावारिश लाश के अंतिम संस्कार के लिए विभाग 1500 रुपए देती है…लेकिन बड़ा सवाल यह है कि अगर रेलवे लाशों के अंतिम संस्कार के लिए डेढ़ हजार रुपए देती है तो फिर ऐसे लाशों को आखिर फेंक क्यों दिया जाता है? सवाल कई हैं.. जैसे या तो रेलवे ऐसे लाशों के अंतिम संस्कार के लिए पंद्रह सौ रुपए नहीं देती..या फिर अगर विभाग ने ये रुपए दिए तो ये एंबुलेंस वाले और जीआरपी के जवान ने मिलकर रुपए की बंदरबांट कर ली…और लाश को गुपचुप तरीके से ठिकाने लगा दिया… इस तरह की संवेदनहीनता पर सवाल उठना लाजिमी है और रेलवे को इस मामले में जवाब देना चाहिए कि आखिर जब वो लावारिस लाशों के अंतिम संस्कार के लिए रुपए देती है तो फिर वो रुपए दाह संस्कार के बदले जाते कहां हैं?  हालांकि मीडिया में खबर आने के बाद जीआरपी के एसपी ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराए जाने का आदेश दिए हैं…