मधेपुरा में बनेगा देश का सबसे पावरफुल इलेक्ट्रिक रेल इंजन,अक्टूबर से निर्माण कार्य होगा शुरु,तैयारियां लगभग पूरी

पटना Live डेस्क. उत्तर बिहार का पिछड़ा जिला मधेपुरा इन दिनों देश में सुर्खियों में है..कारण है कि अगले महीने यानि अक्टूबर से यहां रेल इंजन का निर्माण कार्य शुरु हो जाएगा…प्रधानमंत्री मोदी के मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत स्थापित मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव प्राइवेट लिमिटेड के इंजीनियर अक्टूबर के दूसरे सप्ताह से विद्युत रेल इंजन बनाने लग जाएंगे और यह इंजन फरवरी 2018 में राष्ट्र को समर्पित होगा…पीएम मोदी के मेक इन इण्डिया कार्यक्रम के तहत फ्रांस की रेल इंजन निर्माता कम्पनी एल्सटॉम के सहयोग से मधेपुरा विद्युत रेल इंजन कारखाना को लगाया गया था…. इस कारखाने में अगले महीने से निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा…. लगभग 20 हजार करोड़ की लागत से स्थापित इस कारखाने का निर्माण अंतिम चरण में है… मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव प्राइवेट लिमिटेड के उप-मुख्य अभियंता के.के. भार्गव ने बताया कि पहले रेल इंजन के निर्माण के लिए कल-पुर्जे फ़्रांस से आ चुके हैं…

फरवरी 2018 में यहां पहला रेल इंजन बन कर तैयार हो जएगा. कारखाने के उद्घाटन के संबंध में पूछे गए सवाल को टालते हुए उन्होंने कहा कि इस बारे में रेलवे के बड़े अधिकारी विचार कर रहे हैं… रेलवे के सूत्रों की मानें तो फरवरी 2018 में ही पीएम मोदी देश के इस सबसे आधुनिक विद्युत रेल इंजन कारखाना का विधिवत उद्घाटन करेंगे जिसमे फ़्रांस के राष्ट्राध्यक्ष भी शामिल हो सकते हैं.

मधेपुरा रेल इंजन कारखाना में देश का सबसे शक्तिशाली विद्युत रेल इंजन तैयार होगा… इसका उपयोग मालगाड़ी में होगा जिससे मालगाड़ी की गति वर्तमान गति से दोगुनी हो जाएगी… मधेपुरा के जिलाधिकारी मो. सोहैल ने बतया कि कारखाना निर्माण में मधेपुरा के लोगों और खास कर भू-दाता किसानों का भरपूर योगदान रहा है… उन्होंने कहा कि रेल इंजन कारखाना के निर्माण के बाद इलाके की औद्योगीकरण की संभावना काफी बढ़ गई है… कई बड़ी कम्पनियां जिले में उद्योग लगाने के लिए संपर्क कर रही है.