BIG NEWS(वीडियो)पूर्व CM राबड़ी देवी की सुरक्षा घटी तो नाराज बेटों ने भी वापस किए अपने गार्ड

पटना Live डेस्क।बिहार की सियासत में मंगलवार का दिन बेहद उथल पुथल भरा रहा। एक ओर जहां सीबीआई
ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव से उनके आवास पर रेलवे टेंडर घोटाले को लेकर पूछताछ की वही दूसरी तरफ देर शाम बिहार सरकार ने एक फरमान जारी किया और फिर पुलिस मुख्यालय ने पूर्व सीएम राबड़ी आवास 10 सर्कुलर रोड पर तैनात होमगार्ड्स की सुरक्षा में भारी कटौती कर दी। सरकार के फैसले के विरोध में राबड़ी देवी समेत उनके दोनों बेटे पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी और पूर्व स्वस्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने सरकार की ओर से मुहैया कराए गए सुरक्षाकर्मी वापस कर दिए हैं।
राबड़ी आवास पर होमगार्ड्स की संख्या में भारी कटौती को लेकर तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने पिछले 10 महीने में राज्य सरकार के गृह विभाग को कई बार अपने और अपने परिवार की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए पत्र लिखा,लेकिन मुख्यमंत्री ईर्ष्यावश उनकी सुरक्षा बढ़ाने के बदले उस में भारी कटौती कर रहे हैं।
वही राबड़ी आवास पर होमगार्ड्स की सुरक्षा में की गई कमी के विरोध में तेजस्वी ने लिखा कि राबड़ी देवी ने पूर्व मुख्यमंत्री की हैसियत से प्राप्त सुरक्षा, उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव ने विधायक के तौर पर प्राप्त सुरक्षा और उन्होंने खुद नेता प्रतिपक्ष के तौर पर मिली सुुुरक्षा सीएम नीतीश कुमार को वापस की है ताकि वह ईर्ष्यालु व्यवहार छोड़कर सूबे और अवाम खातिर सकारात्मक कार्यों पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकें।

तेजस्वी ने यह भी जानकारी दी कि उन्हें उपमुख्यमंत्री के तौर पर आवंटित 5, देशरत्न मार्ग बंगला जिसमें वह अब भी नेता प्रतिपक्ष के तौर पर रह रहे हैं को खाली करने का भी आदेश भी निर्गत किया गया है। तेजस्वी ने मुख्यमंत्री से सवाल पूछा कि दिन में उन्हें सरकारी आवास खाली करने का फरमान सुनाया गया और शाम में उनकी मां राबड़ी देवी के आवास पर सुरक्षा घटाई गई, ऐसे में नीतीश कुमार और कितने निम्न स्तर तक उतरेंगे?वही नीतीश पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने आगे लिखा कि वह उनकी तरह डरपोक और कमजोर नहीं है जो अपनी सुरक्षा में 800 जवानों को तैनात रखेंगे।

तेजस्वी ने कहा कि उनकी मां राबड़ी देवी, भाई तेजप्रताप और उन्होंने खुद जो सुरक्षाकर्मियों को वापस किया है। वह नीतीश कुमार खुद की सुरक्षा में लगा सकते हैं और संतुष्टि प्राप्त कर सकते हैं।