राजधानी एक्सप्रेस से गायब प्रियंका की मौत बनी मिस्ट्री,कई अनसुलझे सवालों के रेलवे के पास नहीं हैं जवाब

25

पटना Live डेस्क. प्रियंका ने खुदकुशी की या फिर उसकी हत्या हुई..यह मामला काफी पेचीदा जान पड़ रहा है…पेचीदा इसलिए कि जिस ट्रेन से वो सफर कर रही थी उस ट्रेन में हत्या या फिर आत्महत्या करने की गुंजाइश काफी कम नजर आ रही है…दिल्ली से पटना के लिए राजधानी एक्स्प्रेस से चली प्रियंका अचानक उस स्टेशन से गायब हो जाती है जहां उस ट्रेन का स्टॉपेज भी नहीं है..और अगले दिन उसकी लाश गायब होने वाले इलाके से ही बरामद की जाती है…उसकी लाश को खुदकुशी का जामा पहनाने की भरपूर कोशिश की गई है लेकिन सबूत यह बताते हैं कि प्रियंका ने खुदकुशी नहीं कि बल्कि उसकी सुनियोजित तरीके से हत्या कर दी गई…और उसकी लाश को दोबारा वहां लाकर पटरी पर फेंक दिया गया…जिससे यह जताया जा सके कि उसने खुदकुशी की है…प्रियंका के गायब होने की कहानी भी कम दिलचस्प नहीं है…वो अपने भाई के साथ दिल्ली से राजधानी एक्सप्रेस में पटना के लिए चलती है…और अचानक बीच रास्ते में ही गायब हो जाती है…और उसकी लाश गुरुवार को फतेहपुर के सतनरैनी स्टेशन के पास से बरामद होता है…पुलिस को भी आशंका है कि उसकी कहीं और हत्या कर लाश को यहां फेंक दिया गया है…आरपीएफ को आशंका है कि युवती को लूटने के बाद चलती ट्रेन से फेंक दिया गया…राजधानी ट्रेन से गायब हुई युवती की जानकारी के बाद रेलवे प्रशासन में हड़कंप मच गया और मामले की गंभीरता को देखते हुए एडीजी रेलवे वीके मौर्य, आईजी रेलवे बृजराम मीना, एसपी रेलवे दीपक भट्ट गुरुवार को सतनरैनी पहुंचे और मौके की जांच की… युवती के भाई ने बताया कि वह 17 सितंबर को बहन के साथ दिल्ली से पटना के लिए चला था.. कानपुर पहुंचने पर बहन कोच में ही टॉयलेट के लिए चली गई थी पर इसके बाद वह नहीं लौटी..

कानपुर-इलाहाबाद के बीच सतनरैनी स्टेशन के पास दो दिन दिन पहले यानी मंगलवार को प्रियंका का शव दो टुकड़ों में मिला था… इससे लगता है कि उसने आत्महत्या नहीं की है.. इसकी वजह यह है कि ट्रेन में सफर कर रही युवती का शव ट्रैक पर नहीं मिलता, यदि उसने आत्महत्या की होती..

प्रारंभिक जांच और शिनाख्त के बाद यह तय हो गया है कि युवती ने आत्महत्या नहीं की है.. बल्कि उसकी हत्या की गई है.. घटनास्थल से पहले ट्रेन कानपुर सेंट्रल पर ही रुकती है.. इसकी वजह से पु्लिस को आशंका है कि युवती को कानपुर सेंट्रल पर ही ट्रेन से अगवा कर लिया गया..इसके बाद उसे मार डाला गया..

बाद में शव को सड़क मार्ग से ले जाकर उस रूट पर डाला गया, जिस रूट से यह ट्रेन को जाना था.. एसपी रेलवे दीपक भट्टट ने माना कि मामला संदिग्ध है और सीसीटीवी फुटेज से लेकर कोच कंडक्टर, अटेडेंट से भी पूछताछ की जाएगी..

रेलवे से सवाल

अगर उसने खुदकुशी की तो रात में उसे किसी यात्री या फिर कोच अटेंडेंट ने दरवाजा खोलते क्यों नही देखा? या फिर किसी को इस बात की भनक क्यों नही लगी?

सतनरैनी में राजधानी का स्टॉपेज नहीं है तो आखिर उसका शव वहां कैसे पहुंचा?

अगर उसकी हत्या हुई तो जरुर ट्रेन में कोई अनाधिकृत व्यक्ति मौजूद होगा..आखिर कोच अटेंडेंट ने उस शख्स की पड़ताल क्यों नहीं की?

उसकी हत्या हुई तो आखिर कहां हुई..ट्रेन में या फिर ट्रेन से बाहर?

ट्रेन में यदि हत्या हुई तो अन्य यात्रियों को भनक क्यों नहीं हुई