बड़ी खबर – (वीडियो) CM हाउस में तैनात स्पेशल सेल के पुलिस कर्मी की दबंगई, युवक को पीट पीट किया लहूलुहान

106

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में एक किरायेदार और वर्दी वाले मकान मालिक के बीच खुरेजी की घटना हुई है। इस बार भी वर्दी दागदार हुई है। बकौल पीड़ित वर्दीवाले जो खुद को सीएम हाउस में तैनात बताता है ने उसके साथ पिस्तौल के बट से मारपीट करते हुए सरेआम उसको लहूलुहान कर दिया है। मारपीट का शिकार युवक खून से लतपथ सीधा कोतवाली थाने पहुचा जो पुलिस वाले की गुंडागर्दी की चीख चीख कर गवाही दे रहा था। वारदात राजधानी में बीच सड़क पर खुल्लम खुला हुई है।
दरअसल, सीएम हाऊस में पोस्टिंग का धौंस दिखाकर स्पेशल ब्रांच के एक पुलिस कर्मी ने एक युवक की जमकर पिटाई कर दी।जख्मी युवक तबरेज का आरोप है कि उसे पिस्तौल के बल पर डरा-धमका कर जमकर मारा-पीटा गया। इस मारपीट में वो बुरी तरह घायल भी दिख रहा है। उसके चेहरे से खून की बूंदें टपक रही हैं। वो निरीह प्राणी की तरह कोतवाली थाने के बाहर खड़ा फरियाद कर रहा है। शिकायत दर्ज कराने को लेकर गुहार लगा रहा है लेकिन पुलिस के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। इस मामले में सबसे चौंकानेवाला पहलू ये है कि पुलिस भी आरोपी की ओर से खड़ी दिख रही है। जख्मी युवक का साफ कहना है कि कोतवाली थाना की पुलिस मामला दर्ज नहीं कर रही है और न ही उसकी कोई बात सुनी जा रही है।
दरअसल पूरा वाकया यूं है कि रंग का बिजनेस करने वाला तबरेज सीएम आवास पर तैनात स्पेशल ब्रांच के अधिकारी मंजूर आलम के सरकारी क्वार्टर में किराए पर रहता था। वो 7 हजार किराया देने की भी बात कह रहा है। ऐसा लग रहा है कि ये पूरा झंझट कमरा खाली कराने को लेकर हुआ है। उसका कहना है कि मैंने कमरा खाली कर दिया था। केवल सामान ले जाने पर स्पेशल ब्रांच के अधिकारी भड़क उठे और उससे मारपीट करने लगे।
तबरेज व मंजूर आलम के बीच जो भी मामला हो लेकिन इस पूरे घटनाक्रम में एक गंभीर सवाल ये उठ रहा है कि क्या कोई अधिकारी अपने सरकारी क्वार्टर में किसी को किराए पर कमरा दे सकता है?बहरहाल जो भी हो अब देखने वाली बात ये होगी कि क्या पुलिस आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करेगी या फिर कागजी खानापूर्ति कर मामले को रफा-दफा कर दिया जायेगा ? वही इस पूरे मामले पर कोतवाली डीएसपी शिबली नोमानी का कहना रहा है कि मामले की जांच की जाएगी।