BiG NEWS (वीडियो) रोहतास में पुलिस वाले ने थाना हाजत में खुद को मारी गोली, बेहद गंभीर हालात में वाराणसी रेफर

पटना Live डेस्क। बिहार के रोहतास जिले के नोखा थाना में एक पुलिस वाले ने खुद को गोली मार ली। जानकारी के मुताबिक धर्मपुरा ओपी अन्तर्गत एक पुलिस को रविवार के रात्रि में एक घर घुस जाने के बाद ग्रामीणों ने पकड़ पिटाई शुरू कर दी।इसकी जानकारी मिलते ही धर्मपुरा थानाध्यक्ष गंगासागर सिंह ने पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर जा कर किसी तरह उसे बीच बचाव कर के छुड़ाया गया।
दरअसल, एहतियात के लिये उक्त सिपाही को धर्मपुरा पुलिस ने नोखा थाना में लाकर शिफ्ट कर दिया।इसके बाद थानाध्यक्ष ने मुंशी को उसको हवालात में बंद करने को कहा। मुंशी ने खाना खिलाने के लिये हवालात से निकाला तो मुंसी का रिवाल्वर छीन पहली गोली मुंशी के ऊपर चलाई तो वह नीचे जा लगी।दूसरी गोली खुद अपने सर में मार लिया।अभियुक्त सिपाही के खिलाफ ग्रामीणों के दबाव पर मुखिया नोनसारी के बयान पर धर्मपुरा थाना में गलत नियत से घर मे घुसने की प्राथमिकी भी दर्ज की गई है।सोमवार के दिन उक्त अभियुक्त पुलिस जब मुंसी ने हवालात ने हवालात से खाना खिलाने के निकला तो वह कहा कि हम यहां खाना नही खायेंगे स्टाफ के नाते मुंसी ने किसी तरह खाना खिलाने के कहा तो वह खाना तो खा लिया लेकिन पानी पीने उठा तो वह मुंसी के रिवाल्वर को कमर से छीन लिया और पहली गोली चलाई तो वह जमीन पर जा लगी।जबकि दूसरी गोली अपने सर में मार लिया।गोली की आवाज सुन कर आप पास के सभी कर्मी उस जगह पहुच कर किसी तरह उसके हाथ से रिवाल्वर को छीना गया।गोली की आवाज सुनते ही आनन फानन में पुलिस बल उस रूम में पहुच जख्मी सिपाही उमाकांत औरंगाबाद जिले देव थाना के खतपुरी गांव का बताया जाता है।जिसका इलाज के लिये नोखा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिये ले गया जहां से चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद रेफर कर दिया।

इसके बाद सदर अस्पताल सासाराम ले गए वहां से भी चिकित्सक ने उसे बेहतर इलाज के लिये बीएचयू के लिये रेफर कर दिया।बहरहाल मौके पर पहुचे डीएसपी ने उक्त पुलिस को स्थिति का जायजा लिया।इसके नोखा थाना में घटनास्थल का निरीक्षण किया।अभी पुलिस कुछ बताने से इंकार कर रही है।जख्मी अभियुक्त सिपाही की स्थिति चिंताजनक बताई जा रही है।

जवान को गलत नियत से घर मे घुसते ही पकड़े जाने पर ग्रामीणों ने पिटाई कर रहे थे।तब तक सूचना मिलते ही मौके पर पहुची धर्मपुरा पुलिस किसी तरह ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ा कर अपने थाना में ले गई।वहां पर भी ग्रामीणों ने उसे घेर लिया इस मामले में कई ग्रामीण ने वरीय अधिकारी को भी सूचना दी गई।जिस धर्मपुरा पुलिस ने इस उक्त सिपाही पर प्राथमिकी दर्ज की है।उसे एहतियात के तौर पर नोखा में ला कर रखा गया था कि ताकि ग्रामीण किसी तरह की अनहोनी घटना न कर दे।

धर्मपुरा थाना में पदस्थापित औरंगबाद के देव के खतपुरी गांव निवासी उमाकांत की नॉकरी वर्ष 2015 में लगी थी अभी उसकी नॉकरी के 11 अगस्त को तीन साल पूरा होने वाला था।हालांकि पुलिस सूत्रों के अनुसार उक्त सिपाही इस घटना को लेकर दिफ्रेशन में आ जाने की बात कही जा रही है।बहरहाल मामला चाहे जो हो लेकिन जख्मी सिपाही की स्थिति चिंताजनक बताई जाती है।

घटना को लेकर सासाराम एएसपी राजेश कुमार ने सदर अस्पताल पहुच जख्मी का स्थिति को जाना इसके बाद तुरन्त वह घटना स्थल नोखा का मुआयना करने पहुचे घटना स्थल को जाच करने के बाद धर्मपुरा थाना में जाकर वहां की वस्तु स्थिति जायजा लिया।सभी जगह की जांच रिपोर्ट को पुलिस अधीक्षक को सौप जाएगा।

इस मामले में एसपी सत्यवीर सिंह ने कहा कि गलत नियत से वह एक घर मे घुसा था जिस पर ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले किया।उसे हवालात में बंद किया गया था खाना खिलाने के लिये मुंशी ने हवालात से बाहर निकाला तब ही वह मुशी का रिवाल्वर छीन कर गोली अपने सर में मार ली।पुलिस द्वारा उसे इलाज के लिये बीएचयू ले जाया गया है।