हाजीपुर: जिस अपह्रत बच्चे को पुलिस ने कहां कहां नहीं ढूंढा….वो दिल्ली में दुकान पर काम करता हुआ मिला…

23

पटना Live डेस्क. पुलिस जिसे अपह्रत मानकर ढूंढती रही..और उसकी बरामदगी के लिए खाक छानती रही..वो दरअसल घर में पड़ी डांट के बाद दिल्ली भाग गया था…हाजीपुर से लापता दारोगा पुत्र को दिल्ली से बरामद कर लिया गया…लड़के की बरामदगी के बाद परिजनों ने राहत की सांस ली है…लापता गौरव पिछले 27 अगस्त को अचानक स्कूल जाने के दौरान गायब हो गया था..गौरव के पिता सीवान जिले के रघुनाथपुर थाने में दारोगा के पद पर पोस्टेड हैं…गौरव की गुमशुदगी के बाद उसे ढूंढ पाने में विफल रहने पर कई बार खुद पिता ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे…अब गौरव की सकुशल बरामदगी पर उसके पिता संजीव कुमार कहते हैं कि बेटे की बरामदगी के बाद वो बेहद खुशी महसूस कर रहे हैं…जानकारी के मुताबिक गौरव दिल्ली में एक दुकान पर काम कर रहा था..मां की डांट से नाराज होकर वो हाजीपुर से ट्रेन पकड़कर दिल्ली चला गया था..वहां स्टेशन पर उतरने के बाद वो रोने लगा..जहां उसकी हालत को देख एक आदमी उसे अपने घर ले गया..

गौरतलब है कि बीते 27 अगस्त को नगर थाने के सीता चौक से दरोगा पुत्र गौरव अचानक अपने घर से गायब हो गया था… जिसके बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गई थी….

उसके बाद करीब एक महीने तक गौरव का पूरा परिवार सदमे में रहा… लेकिन एक मिस्ड कॉल से परिजनों को लापता बच्चे का सुराग मिल गया.. उसके बाद परिजनों की खुशी लौटी… पीड़ित पिता ने बेटे के सकुशल घर वापसी पर प्रसन्ता जाहिर की है….