BIG Breaking (वीडियो )पटना कैदी वाहन ब्लाष्ट – 30 मार्च 2015 को बहादुरपुर हाउसिंग कॉलोनी विस्फोट का मास्टर माइंड सोनू ने रची थी कैदी वाहन में विस्फोट की साज़िश

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में कैदी वाहन में ब्लाष्ट मामले में एसएसपी के बयान के मुताबिक इस कि साज़िश सिकंदर और सोनू द्वारा रची गई थी। ब्लाष्ट खातिर बम और भागने के दौरान सिपाहियों से निपटने खातिर पिस्टल और गोली सिटी कोर्ट में उसके लोगो ने पहुचाया था। एसएसपी मनु महाराज मौके पर पहुंचकर वाहन पर सवार कैदियों से पूछताछ कर रहे हैं. करीब 12 थानों की पुलिस मौके पर पहुंची है और साथ ही बेऊर जेल की सुरक्षा बढ़ा दी गई। जानकारी के मुताबिक कैदियों को पटना सिटी कोर्ट में बम उपलब्ध कराये गये।इस वारदात की साजिश  सोनू और सिकंदर नाम के कैदियों ने रची थी।

ये दोनों पीएलएफआई के हार्डकोर सदस्य हैं।पटना सिटी कोर्ट से लौटते वक्त कैदी वाहन के अंदर न्यू बायपास दशरथा अंतर्गत कैदियों ने कैदी वाहन के अंदर ही बम को फोड़ा है। कैदी के वाहन से भागने की साजिश बताई जा रही है।कौन है बम विस्फोट की साज़िश रचने वाला सोनू                       राजधानी पटना के बहादुरपुर हाउसिंग कालोनी के एमआइजी सेक्टर तीन के ब्लाक संख्या 12 में चौथे कॉलोनी तल्ले पर स्थित फ्लैट संख्या 21 में 30 मार्च, 2015 को हुए जबरदस्त विस्फोट का मास्टर मांइड यही सोनू है। जिसने आज भागने की योजना के तहत सिकंदर के साथ साज़िश रची थी।बमविस्फोट मामले में अगमकुआं  थाना कांड संख्या 132/15 दिनांक 30/03/15 में  प्राथमिकी दर्ज की थी इसमें सोनू को मास्टर माइंड और PLFI नक्सली संगठन का सक्रिय सदस्य बताया गया है। इसको पुलिस ने झारखंड की राजधानी रांची से 6 सितंबर 2015 में चुटिया थाना क्षेत्र के गुरुनानक अस्पताल से इलाज करवाने के दौरान बिहार ATS ने एक साथी संग धर दबोचा था       नालन्दा का है मूल निवासी राजधानी पटना  के बहादुरपुर बम बिस्फोट का मुख्य आरोपी सोनू कुमार नालंदा जिले के थरथरी थाना क्षेत्र के अमेरा गांव निवासी शिव कुमार प्रसाद का पुत्र है। जबकि इसके अन्य सहयोगी कुंदन, लक्ष्मण और छोटू को नालंदा जिले ही एकंगरसराय और हिलसा से गिरफ्तार किया गया था।

बिहार ATS ने रांची से किया था गिरफ्तार

आपको बता दें कि पटना के बहादुरपुर हाउसिंग बम विस्फोट के मुख्य आरोपी सोनू कुमार को पटना एटीएस ने रांची से गिरफ्तार किया था।पीपुल्स लिवरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया का कुख्यात नक्सली सोनू अपने दोस्त अमित के साथ रांची स्थित गुरुनानक अस्पताल इलाज के लिए पंहुचा था। जिसकी सूचना मिलते ही पटना एटीएस और रांची पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर सोनू को गिरफ्तार कर लिया था। पटना एटीएस की टीम ने अस्पताल में अमित के साथ सोनू से पूछताछ की थी।पीएलएफआई के कुख्यात नक्सली सोनू को रांची और बिहार पुलिस को पिछले पांच माह से तालाश थी। पूछताछ के दौरान पटना एटीएस को काफी अहम सुराग में मिले थे।