Big News (वीडियो)पटना के नौबतपुर की महादलित महिलाओं ने पुलिस पर लगाया बर्बरता का गंभीर आरोप,छठ व्रतियों पर भी बरपाया कहर

0
16

पटना Live डेस्क। पटना के नौबतपुर प्रखंड अंतर्गत पड़ने वाले रौनिया मुसहरी की महादलित महिलाओं ने नौबतपुर थाने की पुलिस पर बर्बरता की हद पार करने का आरोप लगाया है। महिलाओं ने बताया कि 20 मार्च को बिना किसी महिला पुलिसकर्मी के छापेमारी कर थाने के पुलिसकर्मियों द्वारा बेरहमी से पिटाई करने की बात कही। महिलाओं ने बताया कि छठ व्रत कर रही महिलाओं को भी नहीं बख्शा गया।।कई महिलाओं को गंभीर अंदरूनी चोट लगी है। पुलिस की दबंगई से डर  करीब दर्जन महिला पुरषों ने  भाग कर दानापुर स्थित नारी गुंजन संस्थान में शरण लिया है। जहां उनकी बातों को सुनने के बाद अल्पसंख्यक आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष सुधा वर्गीज ने पुलिसआलाअधिकारीयों से शिकायत की बात कही है।जमीन कब्ज़ा करने की साजिश

पुलिस द्वारा पिटाई की शिकार बताई जा रही महिलाओं ने इसे पुलिस पर एक जाति विशेष के लोगों के इशारे पर मुसहरी की जमीन कब्ज़ा करने की साजिश बताया। उनका कहना था कि पुलिस एक बेहद सुनियोजित तरीके के तहत उन्हें घर छोड़ने जाने के लिए विवश कर रही है। जिसके लिए शराबबंदी कानून का सहारा लेते हुए पुरुषो और महिलाओं को बार बार बेदर्दी से मारा पिटा जा रहा है। साथ ही शराब बरामदगी दिखा झूठा केस कर जेल भेजने की योजना जा रही। उन्होंने बताया कि इस मुसहरी का कोई भी पुरुष या महिला शराब के अवैध धंधे में शामिल नहीं है। पर पूर्व में कई लोगों को शराब के झूठे मामलों में जबरन जेल भेज दिया गया था। उनके जमानत पर छुट कर आने के बाद फिर मुसहरी छोड़ने के लिए प्रताड़ित किया जा रहा।साजिश करने वालों द्वारा वरीय अधिकारीयों को शराब बनाने की झूठी सूचना दी जा रही है।मुसहरी के लोगों ने बताया कि गुहार लगाने पर मुख्यमत्री ने 2013 में मुसहरी के लोगों पर अत्याचार रोकने का निर्देश वरीय अधिकारीयों को दिया था। साथ ही खुद ही यहां झंडा फहराते हुए विकास की बात कही थी।मुसहरी में बच्चों को पढ़ाने के लिए एक शिक्षा केंद्र स्थापित किया गया,पर कुछ दिन सब ठीक रहने के बाद फिर से जमीन कब्ज़ा करने वालों के कहने पर पुलिस उनपर अत्याचार करने लगी है।


अल्पसंख्यक आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष सुधा वर्गीज ने भी पुलिस पर गंभीर आरोप लगते हुए कहा कि जमीन कब्ज़ा करने वाले जाती विशेष के लोगों को मदद की जा रही। छापेमारी में शराब नहीं मिलना यह  साबित करता है। उन्होंने कहा कि फ़ोन करने पर भी दानापुर एसडीपीओ ने फ़ोन नहीं उठाया और कॉल काट दिया।
वही इस गंभीर आरोप के बाबत    नौबतपुर थानाध्यक्ष आरके तिवारी ने बताया कि कंट्रोल रूम से सूचना के बाद शराब को लेकर मुसहरी में छापेमारी की गयी थी। महिलाओं की पिटाई की बात सही नहीं है।

Loading...