Super Exclusive (वीडियो) ई लालू यादव का प्लांट है अभी बंद है महिना भर से – बोला सुरक्षा गार्ड, पटना Live पहुचा तेजस्वी यादव के आयरन प्लांट पर

0
98

बृज भूषण कुमार, ब्यूरो प्रमुख, पटनासिटी

पटना Live डेस्क। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को नए आरोप लगाए ‘तेजस्वी केवल 750 करोड़ का मॉल ही नहीं बनवा रहे थे बल्कि करोड़ों रूपये के लोहे का व्यापार भी करते हैं।’’ सुशील ने भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में तेजस्वी पर लारा एंड संस नामक लोहा एवं स्टील बेचने वाले प्रतिष्ठान का मालिक होने का आरोप लगाते हुए कहा कि जिंदल स्टील ने तेजस्वी यादव को 28 सितम्बर, 2012 को रामगढ़, पतरातू और अरगुल के स्टील प्लांट से निर्मित माल के लिए हैंडलिंग एंड स्टोरेज एजेंट नियुक्त किया था।जिसके लिए तेजस्वी ने पटना सिटी के मिर्चा मिर्ची रोड के रानीपुर खिड़की में लारा एंड संस के नाम से लोहा एवं स्टील का व्यापार करने के लिए वैट का निबंधन वाणिज्य कर विभाग के पूर्वी अंचल से प्राप्त किया। उन्होंने आरोप लगाया कि तेजस्वी जिंदल कंपनी के एजेंट के रूप में व्यापार करते रहे लेकिन वैट के रिर्टन में टर्नओवर शून्य दिखाते रहे।
सुशील ने आरोप लगाया कि इस व्यापार को करने के लिए 255 डिसमिल जमीन पर 12 फुट से ज्यादा ऊंची चाहरदीवारी का निर्माण किया गया जिस पर करोड़ों रुपए खर्च हुए। उन्होंने कहा कि अभी भी इस परिसर में क्रेन,लोहा एवं स्टील तथा अन्य उपयोगी सामान रखे हुए हैं। सुशील ने आरोप लगाया कि कुछ माह पूर्व तक इस चाहरदीवारी युक्त जमीन पर लारा एंड संस का बोर्ड लगा हुआ था जिसे अब उतार दिया गया है। उन्होंने सवाल किया कि तेजस्वी ने लोहा और स्टील के अपने व्यापार के तथ्यों को आज तक क्यों छुपाया और चुनाव आयोग को दिए गए सम्पत्ति के ब्यौरे में इस जमीन तथा व्यापार का उल्लेख क्यों नहीं किया?चुकी सूबे के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने एक बेहद बडा खुलासा करते हुए नेता प्रतिपक्ष पर आरोप लगाने के कागजी सुबूत भी पेश किए थे। पटना Live के ब्यूरो प्रमुख बृजभूषण कुमार ने डिप्टी सीएम के दावों की पड़ताल करने का निश्चय किया और फिर बेबाक, बेधड़क और बेलाग की अपनी पहचान कायम रखने की कवयाद के कहत हम उक्त इलाके में पहुचे तो इलाके में तेजस्वी यादव के नाम का तो नही पर लालू यादव के प्लांट के बाबत स्थानीय लोगो न केवल हामी भरी बल्कि बताया भी कई साल से है।


वही जब उपरोक्त पते पर पटना Live की टीम पहुची तो देखा गया कि एक बड़े ज़मीनी रकबे पर चाहरदीवारी और एक बड़ा सा आयरन गेट वाले प्लॉट के बाहर एक निजी सुरक्षा गार्ड मौजूद है।अचानक जब हमें उससे पूछा कि तुम्हारा नाम क्या है?सुरक्षा में तैनात निजी गार्ड ने अपना नाम वीरेंद्र सिंह बताया और फिर हमारा दूसरा सवाल था की  – प्लांट अभी बंद है। इस प्लांट के मालिक लालू यादव है। अब  सुनिए निजी सुरक्षा कर्मी की जुबानी 2 एकड़ के प्लॉट का सच …..