Super Exclusive – (त्रासदी) पटना हाईकोर्ट सरकार से पूछ रहा था अबतक क्या किया गया है नाव हादसे की घटना को रोकने को लेकर? तभी, एक नाव गंगा डूब रही थी

पटना Live डेस्क। बुधवार के दिन और राजधानी पटना में एक और नाव दुर्घटना की खबर ने सनसनी मचा दी। जिला प्रशासन से लेकर खाकी और खादी सब बेचैन हो गए। प्रशासनिक अमला सीधा फतुहा के मस्तान घाट की ओर दौड़ पड़ा। खैर, अब जरा लौटते है राजधानी पटना के कानून के गलियारों में ताकि आपको एक त्रासदी से अवगत करा सके।
राजधानी पटना में स्थित हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस राजेन्द्र मेमन और न्यायाधीश अनिल कुमार उपाध्याय की डबल बेंच में 14 जनवरी 2017 को राजधानी पटना में गंगा में हुए नाव हादसे को लेकर दायर याचिका पर कोर्ट सुनवाई  हो रही थी, कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा अबतक क्या किया गया है नाव हादसे की घटना को रोकने को लेकर ?
त्रासदी का चरम देखिये हाइ कोर्ट से चंद किलोमीटर दूर फतुहा के मस्ताना और देवयंती घाटों के बीच एक नाव गंगा में डूब रही थी। यानी नाव हादसे की घटना को रोकने को लेकर बिहार सरकार ने क्या किया है ये भी अब बताने की जरूरत है क्या ? खैर, माननीय हाई कोर्ट में एक सप्ताह के बाद फिर मामले पर सुनवाई होगी।