उप राष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष का मास्टर स्ट्रोक!

16

पटना लाइव डेस्क| जेडीयू ने उप राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले चुनाव में महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी के नाम पर मुहर लगा दी है. गोपाल कृष्ण गांधी नीतीश कुमार के भी करीबी बताए जाते हैं. मंगलवार को दिल्ली में आयोजित विपक्ष की बैठक में हालांकि नीतीश कुमार शामिल नहीं हुए लेकिन उन्होंने भी उनके नाम पर अपनी सहमति जता दी है. राष्ट्रपति पद की गलती से सीख लेते हुए विपक्ष ने इस बार उप राष्ट्रपति पद के लिए पहले ही अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी.
हालांकि एनडीए ने अभी तक उप राष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार का एलान नहीं किया है. लेकिन समझा जा रहा है कि विपक्ष का गोपाल कृष्ण गांधी को उम्मीदवार घोषित करना किसी मास्टर स्ट्रोक से कम नहीं है. कारण है कि बीजेपी के लिए भी उनकी उम्मीदवारी को खारिज करना इतना आसान नहीं होगा.
बता दें कि यूपीए के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार गोपलकृष्ण गांधी से नीतीश कुमार की नजदीकियां हैं। नीतीश कुमार ने चंपारण सत्याग्रह के सौ साल पूरे होने पर इस साल शताब्दी सत्याग्रह समारोह मनाया था। इस समारोह में देशभर के गांधीवादी विचारधारा के लोग शामिल होने आए थे। गोपालकृष्ण गांधी ने भी बिहार में कई दिनों तक रहकर इस समारोह में हिस्सा लिया था।