बड़ी खबर – मैट्रिक परीक्षा में नकल रोकने खातिर बिहार शिक्षा विभाग का अजीबो-गरीब फैसला,जूते नहीं,चप्पल पहनकर छात्र देंगे परीक्षा

0
98

पटना Live डेस्क। सूबे में विगत दिनों आयोजित इंटर की परीक्षा को लेकर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के तमाम दावों और तैयारियों को धता बताते हुए भी शरारती तत्वों ने कई विषयों प्रश्नपत्र के परीक्षा के दौरान ही लीक करते हुए वाट्सएप और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। वही,अब आगामी 21 फरवरी से मैट्रिक की परीक्षा शुरू हो रही है। अब,मैट्रिक परीक्षा में नकल न हो इसको लेकर शिक्षा विभाग अजीबो-गरीब फैसले ले रहा है। बोर्ड ने कहा कि जूते की जगह परीक्षार्थियों को चप्पल पहनकर आना होगा।
हर वर्ष की तरह इस बार भी नकल रोकने के लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा निर्देश जारी किया गया है कि परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को परीक्षा के दिन जूते-मोजे पहनकर नहीं आना है। इसको लेकर नए फरमान जारी किये गए है। नए फरमान के अनुसार  मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा में छात्र-छात्राओं के जूता और मौजा पहनकर आने पर रोक लगा दी गई है। मैट्रिक के परीक्षार्थी चप्पल पहनकर परीक्षा देने के लिए आएं।
इसके लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने निर्देश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि परीक्षा में सम्मिलित होने वाले छात्र-छात्राओं को परीक्षा के दिन जूता और मोजा पहन कर नहीं आना है।सभी परीक्षार्थियों को परीक्षा के दिन जूता और मोजा की जगह चप्पल पहन कर ही आना होगा।
इस फरमान के बाबत बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि परीक्षा में जूता और मोजा नहीं पहनने के सम्बंध में निर्देश बिहार राज्य में अयोजित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में दिया जाता रहा है।जिसे इस वर्ष से वार्षिक माध्यमिक परीक्षा में लागू करने का निर्णय लिया गया है। समिति द्वारा इस सम्बन्ध में सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी,केंद्राधीक्षक, परीक्षार्थी, अभिभावकों के लिए निर्देश दे दिए गए हैं।उल्लेखनीय है कि इस वर्ष मैट्रिक परीक्षा खातिर सूबे में
कुल 1426 परीक्षा केंद्र बनाए गए है। इस परीक्षा केंद्रों पर 21 फरवरी से दो पालियों परीक्षा का आयोजन 28 फरवरी, 2018 के बीच किया जाएगा। इस वर्ष मैट्रिक परीक्षा 17.70 लाख परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। वही अगर बात राजधानी पटना की करे तो जिले में कुल 74 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। यहाँ कुल जमा 82.50 हजार से भी अधिक छात्रों द्वारा 2 शिफ्ट में परीक्षा दी जाएगी।