अब तेजप्रताप यादव ने दिखाया रौद्र रूप – परिवार में छिड़ी जंग- तेजस्वी और मां राबड़ी देवी को ही किया कमरे में बंद

95

पटना Live डेस्क। बिहार में सत्ता से बेदखली के बाद लालू परिवार में ही घमासान मच गया है। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार शाम तो हद ही हो गई। जब लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव इस कदर गुस्साए कि उन्होंने अपने डिप्टी सीएम रहे छोटे भाई तेजस्वी और मां राबड़ी देवी को ही कमरे में बंद कर दिया। उनका कहना था कि उम्र में वह बड़े रहे फिर भी उनके स्थान पर छोटे भाई को बड़ा पद दिया गया। और उस गलत फैसले का नतीजा रहा कि परिवार पूरी तरह से आज सत्ता से बाहर हो गया है।


बहरहाल घर में झगड़े को किसी तरह पारिवारिक लोगों ने समझा-बुझाकर शांत कराया। इस बीच पुलिस भी पहुंच गई। हालांकि इस घटना के बारे में परिवार के लोग इन्कार कर रहे हैं। मगर कुछ करीबियों ने नाम न छापने की शर्त पर पुष्टि की है। बिहार के एक नेता की मानें तो सीएम नीतीश कुमार ने लोकल इंटेलीजेंस ब्यूरो से भी लालू परिवार के अंदरखाने मची रार  पर नजर रखने को कहा है।।लालू परिवार से जुड़े एक करीबी ने बताया कि पटना के दस सर्कुलर रोड वाले घर पर तेज प्रताप ने राबड़ी और तेजस्वी को कमरे में बंद कर दिया। उन्होंने पहले लालू और फिर राबडी पर गलत फैसले का ठीकरा फोड़ा। कहा कि हमको मुख्यमंत्री बनाए होते तो ये नौबत न आती। क्योंकि हमारे नाम गलत तरीके से एक रुपया अर्जित करने का भी आरोप नहीं है। न ही कोई केस चल रहा है। उम्र में भी मैं बड़ा हूं। इस नाते डिप्टी सीएम का पद मुझे मिलना चाहिए था।


पहली बार विधायक बने राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों का मामला हमेशा चर्चा-ए-खास रहा।जीत के साथ ही यह कयास लगने शुरू हो गए थे कि लालू प्रसाद यादव का उत्तराधिकारी कौन बनेगा। सब बड़े बेटे तेजप्रताप को वारिस मानकर चल रहे थे,मगर लालू प्रसाद यादव ने अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव को तरजीह दी और उनके लिए नीतीश कुमार से उपमुख्यमंत्री का पद मांगा और शपथग्रहण हो गया। इसी के साथ बड़े बेटे तेज प्रताप को नीतीश कुमार मंत्रिमंडल में बतौर मंत्री शामिल किया गया। उधर, मुख्य विपक्षी दल बीजेपी ने हमेशा से इन दोनों को निशाना बनाया है। दोनों के ही काम पर बीजेपी की नजरें लगी रही हैं और पार्टी ने ऐसा कोई भी मौका नहीं छोड़ा जिस पर राजनीतिक फायदा उठाया जा सके। पार्टी ने वह मौका भी नहीं छोड़ा जब लालू प्रसाद यादव ने छोटे बेटे को उपमुख्यमंत्री बनवाया।