बड़ी खबर – यूपी अंडरवर्ल्ड में बदला समीकरण जो कल तक थे दुश्मन वो ब्रजेश और मुख्तार बने दोस्त

पटना Live डेस्क। उत्तरप्रदेश के पूर्वांचल से लेकर सुदूर कोल नगरी धनबाद तक और बनारस की गलियों से सत्ता के गलियारों तक जिनकी बंदूकों की गरज़ और एक दूसरे को मिटा देने की हसरत की गूंज आम से लेकर खास तक को दहशतज़दा कर देती थी, वही कुख्यात मुख़्तार अंसारी और पूर्वांचल की आंधी कहे जाने वाले कुख्यात माफिया सरगना ब्रजेश सिंह अब दोस्त बन गए। खबर का व्यापक असर भी पाताल लोक में हो रहा है। दोनों बाहुबलियों के बीच हुई दोस्ती से जरायम की दुनिया में हड़कंप मच गया है। पुलिस भी हैरान हो गयी है कि आखिर यह क्या हो रहा है? दोनो कों दुश्मनी छोड़ दोस्त यार बनाने की नींव रखी है कुंडा के बाहुबली विधायक रघु राज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने जिन्होंने बाहुबली मुख्तार अंसारी व माफिया से माननीय बने बृजेश सिंह में दोस्ती करा दी है। दो धुर विरोधी अब एक ही पाले में आ गये हैं। इस नए गठबंधन को लेकर बनारस के शिवपुर थाना में बकायदे तहरीर दी गई है। तहरीर के बाबत बनारस पुलिस ने भी पुष्टि की है।                        जरायम की दुनिया में बाहुबली मुख्तार अंसारी व बृजेश की दुश्मनी किसी से छिपी नहीं है। पूर्वांचल के दो बड़े बाहुबलियों में जब भी गैंगवार हुआ है तो कई लोग मारे जाते हैं।बीजेपी के विधायक कृष्णानंद राय की हत्या को भी इसी गैंगवार से जोड़ कर देखा जाता है जब एके-47 से अंधाधुंध फायरिंग करके राय सहित आधा दर्जन लोगों की निर्मम हत्या की गयी थी।                    इन दोनो गिरोहबाजों की भिड़ंत में अब तक दोनों ओर से लगभग 50 लोग मारे जा चुके है। लेकिन अचानक बदलने करण ने कइयों के होश उड़ा दिए है। तो कइयों की बांछे खिल उठे है। बकौल शिवपुर थाने की तहरीर में लिखी बातें के दोनो कुख्यात व माननीय के मिलन से अब पाताललोक में सारे समीकरण बदल जायेंगे। दोनों गैंग के शूटर जो अबतक एक-दूसरे के जान के प्यासे रहते थे वह अब मिल कर विरोधियों को चुन चुन कर ठिकाने लगायेंगे। साथ ही दोनों बाहुबलियों में दोस्ती हो जाती है तो अंडरवर्ल्ड में इसी ग्रुप का डंका बजने लगेगा।

     जानिए कब करायी गयी दोस्ती                                                            इस बाबत गरीब शोषित असहाय विधिक सहायता संस्थान के अध्यक्ष राकेश न्यायिक ने ही शिवपुर थाने में तहरीर देकर बाहुबली राजा भैया द्वारा दोनो बाहुबलियों में करायी गयी दोस्ती का खुलासा किया है। इस बाबत पीएम,यूपी के सीएम मुख्य सचिव,डीजीपी, बनारस के डीएम व एसएसपी को भी पत्र लिख कर इस नए समीकरण की तमाम जानकारी दी गयी है। तहरीर में कहा गया है कि दोनों बाहुबलियों ने एक-दूसरे को मुकदमे से बचाने के लिए ही दोस्ती की डील की है। मध्यस्ता बाहुबली राजा भैया ने करायी है। इसके बाद से ही दोनों बाहुबलियों पर दर्ज मुकदमों में गवाह पक्षद्रोही बनते जा रहे हैं और लगातार मुख्तार व बृजेश विभिन्न केसों से बरी होते जा रहे हैं। तहरीर में दावा किया गया है कि सपा सरकार के समय ही दोनों बाहुबलियों में डील हुई और फिर दोनों गिरोह में गैंगवार खत्म हो गयी है।                  राजा भैया को मुख्तार ने दिलायी थी राहत

 वही इस नए समीकरण के बाबत राकेश न्यायिक का आरोप है कि कुंडा सीओ जियाउल हक की हत्या का आरोप राजा भैया पर लगा था। जिसके चलते उन्हें कैबिनेट मंत्री की कुर्सी तक छोडऩी पड़ी थी। सीओ हत्याकांड की सीबीआई जांच करायी गयी थी। आरोप है कि इसी हत्याकांड से राजा भैया को बचाने के लिए बाहुबली मुख्तार अंसारी ने बहुत मदद की थी। इस कारण ही राजा भैया को सीबीआई जांच में क्लिीन चिट मिली थी। इसके बाद राजा भैया काफी खुश हो गये थे और बाहुबली मुख्तार अंसारी के कहने पर अपना प्रभाव दिखाते हुए माफिया सरगना बृजेश सिंह को अंसारी से दोस्ती के लिए मनाया। दोनों ही बाहुबलियों के बीच डील करा कर दोस्ती करा दी।
आरोप है कि इस डील के चलते ही ठेकदार मन्ना सिंह हत्याकांड में बृजेश सिंह की मदद से मुख्तार अंसारी बरी हुए।इसी क्रम में गाजीपुर के ऊसरी चट्टी में हुई गोलीबारी भांवरकोल कांड व कृष्णानंद राय हत्या कांड में भी दोनों बाहुबलियों की दोस्ती बहुत काम आ रही है। वही,राकेश न्यायिक का आरोप है क बाहुबलियों के डील के चलते कानूनी प्रक्रिया प्रभावित हो रही है इसलिए उन्होंने मामले की जांच की मांग की है।