शिक्षक दिवस के मौके पर सीएम नीतीश कुमार ने शिक्षकों को किया सम्मानित,कहा-‘बच्चों के भविष्य की जिम्मेदारी आप पर’

48

पटना Live डेस्क. शिक्षक दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तीन जिला शिक्षा अधिकारियों के साथ ही 14 शिक्षकों को सम्मानित किया..इस मौके पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में शिक्षा पर काफी काम हुआ है..स्कूलों से बाहर जाने वाले बच्चों की संख्या में काफी कमी आयी है…सीएम ने कहा कि बिहार का 20 फीसदी राशि शिक्षा पर खर्च होता है और कभी कभी यह पहुंचकर 24 फीसदी तक पहुंच जाता है.. नियोजित शिक्षकों के लिए सेवा शर्त बन रही है लेकिन आप लोग भी बिहार के बच्चों का ख्याल रखें..

उन्होंने कहा कि बालिका साइकिल और दूसरी योजनाओं से लड़कियों को काफी फायदा हुआ है.. आज सरकारी स्कूलों में लड़के और लड़कियों की संख्या बराबर हो गई है.. हमने देखा है कि लड़कियों को 12वीं तक पढ़ाने पर प्रजनन दर काफी कमी आई है..

सीएम ने शिक्षकों से कहा कि आप सिर्फ शिक्षा नहीं देते हैं बल्कि बिहार के विकास में भी बड़ा योगदान करते हैं..आपके उपर बिहार के विकास की बड़ी जिम्मेदारी है.. पांच हजार से ज्यादा ग्राम पंचायतों में आज उच्च माध्यिक स्कूल स्थापित किए जा चुके हैं.. उन्होंने कहा कि शिक्षकों को चिंता करने की जरूरत नहीं है वो सिर्फ बच्चों का ख्याल रखें…

डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि बिहार सरकार शिक्षकों के वेतन प्रति वर्ष लगभग 15 हजार करोड़ रुपए खर्च होता है जबकि शिक्षा का कुल बजट 25 हजार करोड़ रुपए है.. बिहार की जनता गाढ़ी कमाई की राशि आपको वेतन के रुप में दिया जाता है तो आपका भी दायित्व को बेहतर तरीके से निर्वाह करें..

उन्होंने कहा कि विज्ञान की शिक्षकों की कमी है.. लिहाजा सरकार ने 1000 माध्यिक स्कूलों में ई-लर्निंग की व्यवस्था की दिशा में काम कर रही है..उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में अब1 फीसद से भी कम बच्चे स्कूल से बाहर हैं.. अब शिक्षा की गुणवत्ता पर पूरा फोकस किया जाएगा।

शिक्षक दिवस समारोह में सरकार वर्ष 2017 में शिक्षक कल्याण कोष में अधिक से अधिक राशि जमा करने वाले तीन जिला शिक्षा अधिकारियों को सम्मान दिया गया.. इनमें  नालंदा के साथ ही पटना और पश्चिम चंपारण के जिला शिक्षा अधिकारी शामिल हैं.

इन शिक्षकों को मिला सम्मान 

माध्यमिक शिक्षक :

  1. कृष्णचंद्र चौधरी, प्रधानाध्यापक, कमला बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय डुमरा, सीतामढ़ी
  2. हफीज अनवर, प्रभारी प्रधानाध्यापक, अनाचित साह उच्च विद्यालय बेलौरी, पूर्णिया
  3. डॉ. अर्चना चौधरी, नियोजित शिक्षिका, राजकीयकृत दुनियादारी उच्च माध्यमिक वि. मनेर
  4. ममता कुमारी, प्रधानाध्यापक, ब्रज बिहारी स्मारक उच्च विद्यालय पूर्णिया
  5. हरिहर साह, प्रधानाध्यापक, राजकीयकृत श्री जागेश्वर उच्च मा. व. भूतही, सोनबरसा
  6. डॉ. फरहत आरा बेगम, प्रभारी प्रधानाध्यापक, प्लस टू उच्च विद्यालय अररिया

प्राथमिक शिक्षक : 

  1. शोभानंद सिंह, प्रभारी प्रधानाध्यापक, मध्य विद्यालय कोठी टोला, पूर्णिया
  2. द्विजेंद्र कुमार, सहायक शिक्षक, मध्य विद्यालय मधुबन, सीतामढ़ी
  3. अवधेश पांडेय, सहायक शिक्षक उत्क्रमित मध्य विद्यालय औली, सारण
  4. मो. जहीर, प्रधानाध्यापक, राजकीय मध्य विद्यालय बालक, लौरिया प. चंपारण
  5. पवन कुमार सिन्हा, सहायक शिक्षक मध्य विद्यालय मनोहरपुर, भागलपुर
  6. रंभा सिन्हा प्रभारी प्रधानाध्यपक, मध्य विद्यालय मिल्की शरणार्थी, पूर्णिया
  7. नौशाबा बेगम सहायक शिक्षिका, प्राथमिक विद्यालय भवेदपुर, सीतामढ़ी
  8. कुमारी शोभा शर्मा, प्रधानाध्यापक मध्य विद्यालय खैरवादर्प, शिवहर

इन शिक्षकों को मिलेगा राष्ट्रीय पुरस्कार 

माध्यमिक शिक्षक : 

– नंद किशोर सिंह, प्रधानाध्यापक फिलिप उच्च विद्यालय, बरियापुर मुंगेर

– डॉ. सविता रंजन, सहायक शिक्षिका ब्रज बिहार स्मारक उच्च विद्यालय पूर्णिया

– काशीनाथ त्रिपाठी, प्रभारी प्रधानाध्यापक बलदेव अतीम प्रवेशिका विद्यालय बाराचकिया पूर्वी चंपारण

प्राथमिक शिक्षक : 

विजेंद्र कुमार सिंह, प्रभारी प्रधानाध्यापक आदर्श मध्य विद्यालय बड़हरा कोठी, पूर्णिया

हेमंत कुमार, सहायक शिक्षक, राजकीय मध्य विद्यालय जितवारपुर मधुबनी

ज्ञानवद्र्धन कंठ, प्रधानाध्यापक, मध्य विद्यालय भवप्रसाद डुमरा सीतामढ़ी

रमाशंकर गिरि, प्रभारी प्रधानाध्यापक राजकीयकृत आदर्श विपिन मध्य विद्यालय बेतिया

डॉ. उत्तिमा केशरी, प्रभारी प्रधानाध्यापक, मध्य विद्यालय सदर पूर्व पूर्णिया