नीतीश कुमार पर आरोपों की बौछार,तेजस्वी ने कहा ‘साजिश के तहत नीतीश ने मेरी छवि को बदनाम किया’

पटना Live डेस्क. कल तक नीतीश कुमार के साथ सत्ता में भागीदार रही आरजेडी आज सत्ता जाते ही नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोल रही है. लालू प्रसाद ने नीतीश कुमार पर मर्डर और आर्म्स एक्ट का आरोपी बताया तो पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर चुनाव में जाने को लेकर डरे होने का आरोप लगाया है. तेजस्वी यादव ने कहा कि,हमारी छवि को बदनाम करने की कोशिश की गई और साजिश रचकर बीजेपी के कहने पर हमारे उपर आरोप लगाया गया. उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर जो आरोप लगे हैं और सीबीआइ ने जो एफआइआर दायर किया है वो सारे शेयर पब्लिक डोमेन में हैं. तेजस्वी ने कहा कि सुशील मोदी अपनी संपत्ति की डिटेल सार्वजनिक क्यों नहीं कर रहे हैं?हमारे खिलाफ पिछले 10 सालों से अभियान चलाया जा रहा है।

 

तेजस्वी ने कहा कि जब नीतीश कुमार राजद और कांग्रेस के साथ महागठबंधन बनाने के लिए तैयार हुए तब लालू जी दोषी ठहराए गए थे, फिर नीतीश कुमार महागठबंधन के लिए क्यों राजी हुए? महागठबंधन अवसरवाद नहीं था, हमने नीतीश कुमार को पूरी छूट दी थी.

 

राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि दोबारा चुनाव में जाने से हमें कोई समस्या नहीं है। बिहार की  12 करोड़ जनता हमारे साथ है और अगर नीतीश कुमार खुद मजबूत हैं, तो बीजेपी का सहारा क्यों लिया खुद के बूते क्यों नहीं सरकार बना ली. दरअसल, बीजेपी और नीतीश चुनाव से डर रहे हैं.

 

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद महागठबंधन की बैठक क्यों नहीं बुलाई गई? तीनों पार्टियों के नेताओं को बैठक क्यों नहीं हुई? हमें दबाने के लिए मामले दायर किए गए हैं. अब तो लगता है अभी से ही लालू यादव के पोतों के खिलाफ भी केस दर्ज किए जाएंगे. तेजस्वी ने कहा कि हमें फ्लोर टेस्ट के लिए भी नहीं बुलाया गया, क्योंकि ये लोग हमारी ताकत से डरे हुए हैं.