BiG News (वीडियो) 80 गाड़ियों के काफिले से निकली मुन्ना बजरंगी की शव यात्रा, बनारस में बेटे ने दी मुखाग्नि

0
187

पटना Live डेस्क। कुख्यात माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी का शव सुबह 7:30 कड़ी सुरक्षा के बीच उनके पैतृक गांव जौनपुर के रामपुर थाना क्षेत्र में पूरेदयाल कशेरु गांव पहुंचा। जैसे ही मुन्ना बजरंगी का शव उनके घर के बाहर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया पूरा गांव उनके घर पर आ गया। यही नहीं जौनपुर में उनके गांव के साथ-साथ पूर्वांचल से कई लोग मुन्ना बजरंगी के अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए उनके पैतृक गांव जौनपुर के रामपुर थाना क्षेत्र के पूरेदयाल कशेरु पहुंच गए।
माफिया डॉन के अंतिम संस्कार की सूचना के बाद पुलिस भी हरकत में आई और भारी संख्या में उनके घर सिविल पुलिस पीएसी के साथ-साथ एलआईयू के कई बड़े अधिकारी वहां मौके पर पहुंच गए। बताया जा रहाहै कि माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी के अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए पूर्वांचल के कई बड़े-बड़े शूटर से लेकर नामचीन अपराधी भी अंतिम यात्रा में शामिल हुए।                     

काशी में हुआ अंतिम संस्कार     

                   दरसअल डॉन मुन्ना बजरंगी का अंतिम संस्कार वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर होगा। करीब 9:30 बजे उनकी शव यात्रा 80 गाड़ियों के काफिले के साथ वाराणसी के लिए निकली। काफिले में 80 गाड़ियों के मौजूद होने से यह साफ जाहिर होता है कि पूर्वांचल में माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी का दबदबा कायम था। शव यात्रा के बहाने मुन्ना के लोग शक्ति प्रदर्शन भी कर रहे थे।
बता देगी सुबह 6:30 बजे उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में मुन्ना बजरंगी 10 गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। और बीती रात इस हत्या का आरोप पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के बदमाश सुनील राठी में मुन्ना की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है। मुन्ना के वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर अंतिम संस्कार की सूचना के बाद जौनपुर से वाराणसी के मणिकर्णिका घाट तक पुलिस और प्रशासन के बड़े-बड़े अधिकारी हरकत में आ गए। एक तरफ जहां मुन्ना के गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया। वही जौनपुर से लेकर वाराणसी आने पर के रास्ते में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई ।