मुलायम के दावे ने बढ़ायी सियासी सरगर्मी,राजद और जेडीयू फिर आमने-सामने

0
10

पटना Live डेस्क. राज्य में महागठबंधन सरकार के टूटन के बाद बयनाबाजी और आरोपों-प्रत्यारोंपों का दौर जारी है. अब इस बायनबाजी में मुलायम सिंह यादव भी कूद पड़े हैं और उनके बयान को लेकर एक बार फिर राजद और जेडीयू के नेता आमने-सामने हैं. दरअसल मंगलवार को मुलायम सिंह यादव ने दावा किया था कि नीतीश कुमार महागठबंधन सरकार में सीएम बनने को लेकर उनके सामने रोये थे और कहा था कि गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री मुझे बना दीजिए. उनके इस बयान को लेकर अब जेडीयू और राजद के नेताओं में आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर शुरु हो गया है. मुलायम सिंह यादव के इस बात पर जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि लालू प्रसाद और मुलायम सिंह यादव अपने कुकर्मो को छुपाने के लिए ऐसे बयान दे रहे हैं. संजय सिंह ने कहा कि दोनों दिन में बीजेपी को गाली देते हैं और रात में उनके पैर पर गिरते हैं. ये लोग किस नैतिकता की बात करते हैं और नीतीश कुमार पर ऐसे आरोप लगा रहे हैं कि वो रोते हुए गए थे.

संजय सिंह ने कहा कि उनका एक हाथ गर्दन पर तो दूसरा हाथ पैर पर रहता है. नीतीश कुमार ने बिहार का खजाना भरने की चाहत रखते हैं, और खजाने को हमेशा बढ़ाना चाहते हैं लेकिन लालू यादव ने क्या किया ये तो वही बेहतर बता सकते हैं. उन्होंने केवल अपना और अपने परिवार का खजाना भरा और उसे ही बढाया है, जिसके अब तो प्रमाण मिल रहे हैं.

इसका जवाब देते हुए राजद के नेता भाई वीरेंद्र ने करारा हमला करते हुए कहा है कि जिसको जैसा संस्कार मिलता है वो वैसी ही बातें करता है. जिन लोगों की पार्षद बनने की औकात नहीं वो लालू यादव पर आरोप लगाते हैं. जदयू प्रवक्ता क्या करते हैं वो भी सभी जानते हैं. दिन में क्या करते हैं और रात में क्या करते हैं वो भी सबको पता है. जल्द ही सबका खुलासा हो जाएगा.

भाई वीरेंद्र ने नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये तो लोगों को दूध की मक्खी की तरह निकालकर फेंकने में माहिर हैं. इसका उदाहरण है जॉर्ज फर्नांडिस और अब शरद यादव, जिन लोगों ने इन्हें बनाया उन्हीं लोगों को वो निकाल बाहर कर दिया. यही तो इनकी रीति-नीति है.