Super Exclusive – दोस्त से दुश्मन बने गैंगेस्टर ने अपने शूटर भेज कराई संतोष झा की हत्या,पकड़ा गया अपराधी है मुकेश पाठक गैंग का है शूटर

पटना Live डेस्क। सीतामढ़ी कोर्ट में पेशी के दौरान मार डाले गए कुख्यात संतोष झा की हत्या को लेकर पटना Live बड़ा खुलासा कर रहा है। पाताललोक के विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संतोष झा की हत्या को उसके बेहद करीबी रहे मुकेश पाठक ने मोतिहारी जेल में बैठ कर अंजाम दिलाया है। इस बात को तस्दीक पुलिस सूत्र भी कर रहे है। सीतामढ़ी जिला सिविल कोर्ट में पेशी के दौरान तीन की संख्या में रहे अपराधियों ने कुख्यात गैंगस्टर संतोष झा की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के वक्त संतोष CJM कोर्ट में पेशी देकर संतोष को बाहर लाया जाया जा रहा था, तभी 3 की सख्या में रहे शूटरों ने उसे कोर्ट परिसर में गोली मार दी और फरार हो गए। अचनाक हुई इस गोलीबारी में कोर्ट परिसर में अफ़रातफ़री मच गई।
वही बकौल प्रत्यक्षदर्शियों के संतोष झा हत्याकांड को 3 बदमाशों ने उस वक्त अंजाम दिया जब सीजेएम कोर्ट में पेशी के बाद संतोष बाहर निकला था। तभी अचानक बदमाशो ने संतोष पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। हत्यारों की टोली ने लगभग बीस राउंड गोलिया चलाई। संतोष झा को धराशायी कर दो बदमाश भागने में सफल रहे वही तीसरा बदमाश मय हथियार धर लिया गया। इसके पास से एक पिस्टल बरमाद किया गया है। वर्त्तमान ये SP मोतिहारी उपेंद्र शर्मा के आवासीय ऑफिस में रखा गया है।
पकड़ा गया है मुकेश पाठक का शूटर

पुलिस के हत्थे चढ़े शूटर की पहचान आर्यन के तौर पर की गई है। जो मूल रूप से खुद को शिवहर का रहने वाला बता रहा है। लेकिन पटना Live को मिली जानकारी के अनुसार धराया विकास झा है। वही आर्यन के बाबत जो शुरुआती जानकारी मिली है। वह उसके बेहद शातिर होने की कहानी बता रहे है। कम उम्र का बेहद दुःसाहसी अपराधी है। आर्यन मुकेश पाठक का शागिर्द है। संतोष झा से भी परिचित आर्यन ने ही पुलिस सूत्रों के अनुसार इसने ही पहला फायर किया जिससे कोर्ट परिसर में अफ़रातफ़री मच गई। जिसका फायदा उठाकर बाक़ी अन्य 2 शूटरों ने संतोष झा को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के कक्ष के सामने अपराधियों ने दो गोली मारी। संतोष को बेहद करीब से पिस्टल से सिर और सीने में गोली मार दी। उसकी गोली लगते ही मौत हो गई थी, लेकिन पुलिस उसे आनन-फानन में अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद कोर्ट परिसर पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।
वही, मिल रही जानकारी के अनुसार संतोष को मारने वाले शूटर हत्याकांड को अंजाम देने ख़ातिर 2 दिन पहले ही सीतामढ़ी पहुचे थे।इस कांड को मुकेश के 3 शूटरों ने अंजाम दिया है। उलेखनीय है कि संतोष झा के साथ मंगलवार को
मुकेश पाठक भी मोतिहारी जेल सीतामढ़ी में पेशी को आने वाला था।