Big News ( Exclusive PiC) एक माँ ने बेटे की दे दी सुपारी, जिगर के टुकड़े का जिगर चाक करने वालो को दिया 50 हजार कैश

पटना Live डेस्क। अमूमन हम सभी बचपन से सुनते आए है पूत कपूत हो सकता है लेकिन माता कुमाता नही। लेकिन अगर पौराणिक ग्रन्थों पर यकीन करें तो वर्त्तमान दौर कलयुग का चरम काल है। जहां कुछ भी संभव है, तभी तो राजधानी पटना में एक मां ने अपने बेटे को बदमाशों के हाथों न केवल कत्ल करा दिया बल्कि अपने जिगर के टुकड़े का जिगर चाक करने वालो को बाकायदा 50 हजार का भुगतान भी किया। इस लोमहर्षक हत्याकांड का पर्दाफाश करते एसएसपी मनु महाराज की टीम ने न केवल तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया बल्कि उनके कब्जे से एक पिस्टल भी बरामद करने में सफलता पाई है।                                                                           यह घटना जिले के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र से जुड़ा है। दरअसल थाना क्षेत्र के आकाश होटल के पीछे बीते 7मई को एक युवक की लाश पुलिस ने ग्रामीणों की सूचना के बाद बरामद किया था। युवक की पहचान मिंटू राम के रूप में हुई थे। इस घटना के बाद आसपास में सनसनी फैल गयी थी। हत्या की गुत्थी को सुलझाना एक बड़ी चुनौती से कम नहीं थी चुकी मृतक युवक का किसी से कोई झगड़ा नहीं था। ना ही कभी उसका कोई आपराधिक इतिहास रहा था।तमाम बिंदुओं पर विचार करने के बाद एसएसपी मनु महाराज ने अपने तेज तरार्र पुलिसकर्मियों की टीम गठित करते हुए मामले को यथाशीघ्र सुलझाने का निर्देश दिया। एसएसपी द्वारा गठित टीम में सब इंस्पेक्टर मृत्युंजय कुमार,एसआई विनय प्रकाश और अन्य को इस कांड के त्वरित उद्भेदन और हत्यारो को पकड़ने का जिम्मा सौंपा गया। इस टीम ने सर्वप्रथम घटना स्थल के भगौलिक स्थित का मुआयना किया तदुपरांत अपने ह्यूमन नेटवर्क को एक्टिव करते हुए। कुछ बिंदुओं को चिन्हित करते हुए मकतूल के बाबतजानकारी इकट्ठा करना शुरू किया।शुरुआती जानकारी में मकतूल के बाबत कोई विशेष त्रुटिपूर्ण बाते नही पता चली। तो फिर इस टीम के द्वारा अपनी जांच का दायरा पारिवारिक मामलों की ओर मोड़ दिया गया।
और फिर गठित पुलिस टीम हत्यारे तक पहुंचने के लिए स्थानीय लोगों से पूछताछ कर कड़ी से कड़िया जोड़ने का सिलसिला शुरू किया तो एक बेहद अहम सुराग मिला।मकतूल का अपनी मां से संबंध ठीक नही था। आये दिन घर मे माँ बेटे के बीच वाद विवाद और झगड़ा झंझट होता राहत था। यह एक अहम जानकारी थी पर इससे यह साबित नही होता था कि महज वाद विवाद में एक माँ हत्यारन बन जाये।
लेकिन, तमाम हालात और मिल रहे इनपुट्स बार बार और लगातार पारिवारिक वजह से मिंटू की हत्या की ओर इशारा कर रहे थे। अब तेजतर्रार एसआई मृत्युंजय कुमार ने मामले की तह तक जाकर सुबूत इकट्ठा कर मामले का उद्भेदन करने का निश्चय किया और मृतक युवक मिंटू राम की मां का मोबाइल कॉल डिटेल निकला तो उनकी आँखें चमक उठी और फिर कहानी पर से पर्दा उठ गया।                                    दरसअल रोज-रोज के बढ़ता झगड़ा मां-बेटे के दुश्मनी का रूप ले लिया और मिंटू राम की मां ने जो कदम उठाया,वह मां-पुत्र के विश्वास को शर्मसार करने वाली रही। मिंटू राम को रास्ते से हटाने के लिए ,इसके मां ने सालीमपुर के बदमाश धर्मवीर से संपर्क की। मिंटू राम की हत्या करने के लिए धर्मवीर को 50 हजार रूपये की सुपारी दीं।इसके बाद धर्मवीर ने अपने बदमाश दोस्तों से मिलकर योजना बनाया और मिंटू राम की हत्या कर दिया। पुलिस ने घटना कारित करने वाले बदमाश धर्मवीर सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इनके निशानदेही पर पुलिस ने पिस्टल बरामद किया हैं। धर्मवीर पर दोहरा हत्या करने का आरोप हैं और पूर्व में जेल तक जा चुका हैं ।