करोड़ों की बेनामी संपत्ति मामले में लालू की बेटी मीसा और दामाद का जेल जाना तय,पूछताछ जारी,कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

0
15

पटना Live डेस्क। लालू यादव के परिवार पर संकट के बादल छटने का नाम नही ले रहे है। एक ओर जहां चारा घोटाले में उन्हें राहत नही मिली है। वही दूसरी तरफ़ बेटे और पत्नी संग पुनः एकबार सीबीआई की एफआईआर में नामित होकर लालू पर एक और मामला दर्ज हो गया है। साथ हो घोटाले में नामज़द होने पर अब पुत्र तेजस्वी यादव के इस्तीफ़ा पर जदयू अड गया है। वही दूसरी तरफ सबसे बड़ी बेटी सह राजद राज्यसभा सांसद मीसा भारती और उनके पति पर शनिवार को दिल्ली के 3 स्थानों पर पड़े छापे के बाद गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। वही दिल्ली स्थित इडी मुख्यालय में अभी भी मीसा भारती और उनके पति शैलेेेश से पूछताछ हो रही है।

एक हजार करोड़ की कथित बेनामी संपत्ति मामले में राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की सांसद बिटिया मीसा भार­ती और दामाद शैलेश कुमार का जेल जाना लगभग तय माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि मीसा भारती और उनके पति के खिलाफ ईडी और आयकर विभाग के पास पर्याप्त साक्ष्य हैं और संभव है।
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की सांसद बिटिया मीसा भारती और उनके पति पर भी अब गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में जो बात निकल कर सामने आई है,  उससे मीसा भारती की गिरफ्तारी तय मानी जा रही है।शनिवार को ईडी ने 8 हजार करोड़ रुपए के मनी लॉन्ड्रिंग केस के सिलसिले लालू की बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार से जुड़ी तीन संपत्तियों पर छापेमारी की थी।ईडी अधिकारियों ने दोनों से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की।

100 रुपए में शेयर खरीदकर 10 रुपए में वापिस कर दिए गए

सीबीआई द्वारा पटना के 10 सर्कुलर रोड स्थित सरकारी बंगले पर छापेमारी के ठीक एक दिन बाद यानी शनिवार को लालू यादव की सांसद बेटी मीसा भारती के तीन ठिकानों पर ईडी की छापेमारी ने बची-खुची कसर भी पूरी कर दी। ईडी की कई टीमों ने दिल्ली में घिटोरनी, बिजवासन और सैनिक फार्म्स के तीनो फार्महाउसों में छापेमारी की। ये फार्महाउस मीसा भारती, उनके पति शैलेश और उनकी कंपनी मेसर्स मिशैल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम हैं।

यह पूरा मामला मनी लॉड्रिंग के आरोप से जुड़ा है।इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय पहले ही सीए राजेश अग्रवाल और एक मुखौटा कंपनी के मालिक जैन बंधुओं को गिरफ्तार कर चुकी है।ईडी के मुताबिक सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन ने कई फर्जी कंपनियों के जरिए मीसा भारती के लिए धनशोधन का काम किया।मीसा भारती के सीए राजेश अग्रवाल से पूछताछ और जांच में भी सामने आया है कि जैन बंधुओं की कंपनी का मिशैल पैकर्स से साथ संदिग्ध लेनदेन था।