BIG NEWS – मीसा भारती ने राजद कार्यकर्ताओं के बीच कर लिया कबुल तेजस्वी और तेजप्रताप में जारी है मनमुटाव

183

पटना Live डेस्क। बिहार की सियासत में इन दिनों लालू के दोनों लाल के बीच रार की खबरें लगातार सुर्खियां बटोरती रहती है। दरअसल, मुल्क के सियासी  घरानों में सत्ता का संघर्ष हमेशा बना रहा है। इसके कई उदाहरण मौजूद है। वही बिहार के चारा घोटाले में सज़ावार होकर सक्रिय राजनीति से दूर बीमार राजद सुप्रीमो लालू यादव ने बड़े अरमानो से पार्टी की कमान अपने दोनों लाल तेजस्वी और तेजप्रताप को सौप था, ताकि उनकी सियासी विरासत को दोनों आगे ले जाये। लेकिन, शुरुआत के कुछ वक्त बाद ही लालू के दोनों पुत्र तेज़प्रताप और तेजस्वी यादव के बीच दूरी की खबर समाचारों की सुर्खिय बटोरने लगी। धीरे धीरे दोनों के बीच दूरी ऐसी हो गई है कि तेजप्रताप यादव खुद को अब पार्टी गतिविधियों से अलग कर एक अलग ही सियासी लकीर खींचने में जुटे हैं।
दरअसल,लालू प्रसाद यादव के परिवार में छोटे बेटे तेजस्वी को पार्टी की कमान और बड़े बेटे तेज़प्रताप को दरकिनार करने का नतीजा है कि आये दिन उनके बगावती तेवर तेज हो रहे है। कभी फेसबुक तो कभी ट्विटर पर अपने गुस्से का इज़हार किया जा रहा है। हद तब हो गयी जब लालू यादव के पटना आवास 10 सर्कुलर रोड में विगत दिनों पार्टी की महत्वपूर्ण बैठक थी और उसमे हर स्तर के नेता मौजूद थे। वही,लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी,।पुत्र तेजस्वी यादव,पुत्री मीसा भारती शिरकत करते दिखाई दिए मगर लालू के बड़े बेटे तेज़प्रताप नदारद दिखे। ऐसा नही वो पटना या घर मे मौजूद नही थे। तेज़ प्रताप जब बैठक चल रही थी तो उसी परिसर में थे। अमूमन जो कार्यक्रम पार्टी या तेजस्वी कर रहे उससे तेज़प्रताप को कोई सरोकार नहीं होता। वो अपनी अलग पहचान बनाने में जूटे है। लेकिन लालू परिवार और राजद के वफादार सिपाहसलार दोनों भाइयों के बीच किसी भी तरह के मनमुटाव को कोरा बकवास करार देते रहे है।
लेकिन, ये पहली बार है जब किसी सार्वजनकि मंच पर पहली बार लालू परिवार के किसी सदस्य ने दोनों भाइयों के बीच जारी मनमुटाव को सार्वजनिक तौर पर स्वीकार किया हो। दरअसल दोनों भाइयों में जारी कोल्ड वार अब खुलकर सामने आ गया है। दरअसल, मनेर में राजद के सक्रिय कार्यकर्ताओं ने
लिट्टी चोखा पार्टी का आयोजन किया था। इस कार्यक्रम में सांसद मीसा भारती ने शिरकत की और अपने संबोधन मे कार्यकर्ताओं के सामने खुलकर इस बात को मान लिया कि तेजस्वी और तेजप्रताप यादव के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। मीसा ने पार्टी वर्करों के बीच साफ तौर कहा हमारे परिवार में भाई और भाई में मनमुटाव है तो आरेजेडी तो फिर भी बहुत बड़ा परिवार है।
राज्यसभा सांसद मीसा ने इस आयोजन में सार्वजनिक तौर पर कहा कि ‘हाथ की पांचों अंगुली बराबर नहीं होता हैं। साथ ही मीसा ने कहा कि सब  पीठ पीछे खंजर मारते हैं कोई सामने नहीं आता है। मीसा ने कहा कि सामने आकर कोई लड़े तो हम झांसी की रानी की तरह लड़ लेंगे,जबकि पीठ में कोई खंजर मारेगा तो हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।
उल्लेखनीय है को इसपूरे मसले पर पार्टी के नेता कैमरे के पीछे तो बहुत कुछ कहते हैं मगर सामने दबे स्वर में तेजप्रताप का एक अलग चित्रण करते हैं। तेज़ खुद को पार्टी का मास्टर बताते रहे और खुद को कृष्ण कहते रहे हैं। मगर पार्टी के नेता इन्हें तबज़्ज़ओ नही देते वे उन्हें मनमौजी कहते हैं।