भागलपुर: बच्चों की मौत से नाराज परिजनों ने एन एच 31 किया जाम,पोखर में डूबकर नौ बच्चों की हुई थी मौत

28

पटना Live डेस्क. भागलपुर जिले में गणपति विसर्जन के दौरान डूबकर नौ बच्चों की मौत के बाद बच्चों के परिजनों का सब्र का बांध टूट गया. मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा मचाया और मौके पर बच्चों के शव के साथ एन एच 31 को जामकर जोरदार प्रदर्शन किया. लोगों के हंगामे को शांत करने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी. नौ बच्चों की दुखद मौत के बाद से गांव में मातमी सन्नाटा पसरा है और परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.

उल्लेखनीय है कि रविवार को जिले के मड़वा गांव में गणेश जी की मूर्ति विसर्जन के दौरान करीब बारह बच्चे पोखर में उतरे थे जिनमें कुछ बच्चों ने तैरकर अपनी जान बचायी जबकि नौ बच्चों के गहरे पानी में जाने के चलते उनकी मौत हो गई. बच्चों की मौत से सदमे में डूबे परिवार से मिलने बीजेपी नेता शहनवाज हुसैन भी पहुंचे और उऩ्होंने ने लोगों को सांत्वना दी.

मृत सभी बच्चे बिहपुर प्रखंड के कोरचक्का गांव के रहने वाले थे. गांव के बच्चों की टोली ने गणपति की प्रतिमा स्थापित की थी. रविवार की शाम बच्चे प्रतिमा को विसर्जित करने बगल के ही गांव मडवा महंथ स्थान तालाब गए थे.

बताया जा रहा है कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान बच्चे गहरे पानी में चले गए. इसके कारण एक-एक कर दस बच्चे पानी में डूब गये. एक बच्चा तो हिम्मत कर बाहर निकल गया, लेकिन नौ बच्चे डूब गए. इसमें एक परिवार के तो 2 बच्चों की मौत हुई है. नौ मासूमों का शव शाम से चले ऑपरेशन के बाद निकाला जा सका. अपने जिगर के टुकड़ों को देख पूरा गांव रोने-चिल्लाने लगा. मासूमों का शव देख ग्रामीण आक्रोशित हो गये और सोमवार को शवों के साथ नेशनल हाइवे 31 को जाम कर दिया.

मौके पर पहुंचे एसडीओ और एसडीपीओ ने ग्रामीणों को समझाया बुझाया और चार-चार लाख रुपये का चेक प्रदान किया. हालांकि प्रशासनिक अधिकारी प्रशासन की किसी तरह की गलती होने से इंकार कर रहे हैं.