लालू ने जेडीयू पर भी साधा निशाना,कहा ‘किसी की गीदड़भभकी से डरने वाले नहीं’

रांची से पटना लौटते ही लालू प्रसाद ने जेडीयू और बीजेपी पर हमला बोला. जेडीयू की संपत्ति मामले पर मांगी गई सफाई पर बोलते हुए लालू ने कहा कि वो किसी की गीदड़भभकी से डरने वाले नहीं हैं और इस मामले की सफाई 27 अगस्त को होने वाली रैली में दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि 27 अगस्त की रैली में भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर वो पब्लिक को जवाब देंगे. मेरे बाल-बच्चों की सारी संपत्ति पब्लिक डोमेन में है। हमने कोई गलत नहीं किया है. उन्होंने कहा कि महागठबंधन तोड़ने की पहल वो अपनी तरफ से नहीं करने जा रहे हैं.  लालू ने मतभेद सुलझाने के लिए सोनिया गाधी की ओर से फोन आने की बात से इन्कार किया और कहा कि सोनिया गांधी की उऩसे कोई बात नहीं हुई है.

इससे पहले रांची से पटना लौटते ही लालू प्रसाद ने अपने आवास पर पार्टी नेताओं से बैठक की. करीब तीन घंटे तक चली बैठक में उन्होंने तेजस्वी यादव के इस्तीफे की बात से इन्कार किया. लालू प्रसाद ने गठबंधन सरकार को खतरे से बाहर बताया और जेडीयू के प्रश्नों का जवाब 27 अगस्त को पटना के गांधी मैदान में होने वाली रैली में देने की बात कही. उन्होंने अपने परिवार पर लगाए गए तमाम आरोपों के लिए बीजेपी और आरएसएस को जिम्मेदार बताया. लालू ने कहा कि आरएसएस के इशारे पर ही केंद्र सरकार उऩके बाल-बच्चों सहित उन्हें फंसा रही है.

इस दौरान पत्रकारों से बातचीत के दौरान लालू ने कहा कि उनकी नीतीश कुमार से कोई दूरी नहीं है. हम दोनों एक हैं. बीजेपी गठबंधन में दरार डालने और उसे खंड-खंड करना चाहती है,लेकिन हम किसी को बिहार में जगह नहीं देने वाले हैं. लालू प्रसाद ने कहा कि हमने ही पहल कर बिहार में महागठबंधन बनाया था. तो हम भला इस गठबंधन को कैसे तोड़ सकते हैं?