“मैं ख़त्म हो जाऊंगा पर बीजेपी के साथ समझौता कभी नहीं करूँगा”: लालू यादव

पटना Live डेस्क। आरजेडी के प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे हैं जिनके ऊपर जांच की जा रही है। इन आरोपों के बाद से लालू यदाव सुर्खियों में बने हुए है। आरोपों के अलावा उनके पार्टी आरजेडी और नितीश की पार्टी जेडीयू के बीच राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार लेकर चल रहे तकरार की खबर बानी हुई है। बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने यूपीए की जगह एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार, रामनाथ कोविंद को अपना समर्थन दिया है, जिसके बाद लालू ने बयान देते हुए कहा था कि ऐसा करना नितीश की सबसे बड़ी भूल है। इसके बाद से ही दोनों पार्टियों के महागठबंधन पर सवाल उठने लगा था और कहा जाने लगा था कि लालू यादव नीतीश सरकार को अस्थिर करने के लिए बीजेपी के साथ प्लानिंग की है।

लालू यादव ने हाल ही में एक न्यूज़ चैनल में कहा कि समझौता वाली सारी खबर बेबुनियाद है और उन्होंने जेटली या गडकरी से किसी भी बारे में कोई बात नहीं की है। साथ ही उन्होंने कहा कि वो चाहते तो मोदी या अमित शाह को फोन लगा सकते थे पर ऐसा करना उन्हें कतई मंज़ूर नहीं है क्योंकि वो बीजेपी के साथ कभी भी कोई समझौता नहीं कर सकते भले वो ख़त्म क्यों न हो जाए। समझौता पर आयी सारी खबरों को गलत बताते हुए लालू ने कहा कि, “बीजेपी मनगढ़ंत कहानी बना कर मुझ पर झूठा आरोप लगा रही है। मैं भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना करने वाला नेता हूँ, बीजेपी से अपने लिए नरमी का आग्रह करने वाला नेता कतई नहीं बनना पसंद करूँगा। ” मालुम हो कि लालू यादव और नितीश कुमार में सुलह हो गया है। लालू ने नितीश को बिहार का बॉस कहा और साथ ही कहा कि महागठबंधन भविष्य उज्जवल है और इसमें कोई संदेह नहीं है।