BIG Breaking –  धनबाद में बेखौफ अपराधियों का तांडव जारी, JVM जिला अध्यक्ष की हत्या

0
137

पटना Live डेस्क। झारखंड के कोल कैपिटल में अपराधियों का तांडव जारी है। अभी अभी धनबाद में अपराधी बेखौफ अपराधियों ने जेवीएम नेता रंजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। मकतूल रंजीत सिंह जेवीएम युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष थे। उनके साथ रहे झारखंड विकास मोर्चा झरिया के मुन्ना खान को भी गोली मारी गई है। मुन्ना खान की हालत गंभीर है। अशर्फी अस्पताल में इलाज चल रहा है।घटना के बाद से धनबाद पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।
मिली जानकारी के मुताबिक, बनियाहीर झरिया में रहने वाले झारखंड विकास मोर्चा की युवा इकाई के धनबाद जिला अध्यक्ष चालीस रंजीत कुमार सिंह की मंगलवार को कुसुंडा रेलवे साइडिंग के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई। उनके साथ रहे झारखंड विकास मोर्चा झरिया के मुन्ना खान को भी गोली मारी गई है। मुन्ना खान की हालत गंभीर है। शहर के निजी अशर्फी अस्पताल में इलाज चल रहा है।                     कार पर की गई ताबड़तोड़ फायरिंग                       

रंजीत सिंह का कुसुंडा रेलवे साइडिंग में काम चल रहा था। सुबह में काम देखने के लिए घर से वहां गए थे। उसके बाद फिर वापस घर लौट कर नहीं आए।घटना मंगलवार शाम छह बजे की है। रंजीत सिंह बीकेबी साइडिंग से निकलकर अपनी स्विफ्ट कार से धनबाद की ओर जाने वाले थे। तभी पल्सर बाइक पर सवार दो नकाबपोश आए और गाड़ी पर तोबड़तोड़ फायरिंग कर दी।लहूलुहान हालत में उन्हें आनन-फानन में असर्फी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। रंजीत सिंह की मौत की सूचना के बाद लोगों ने जमकर हंगामा मचाया। सूचना पाकर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। लोगों ने अस्पताल में भी हंगामा किया। बताया जाता है कि रंगदारी को लेकर रंजीत सिंह की गोली मारकर हत्या की गई है। रंजीत ने जानलेवा हमले की आशंका जताई थी। इसको लेकर उन्होंने वरीय पुलिस अधिकारी को लिखित में दिया भी था।
रंजीत की हत्या से परिवार के लोग रो-रो कर बेहाल हैं। रंजीत छात्र युवा संघ के अध्यक्ष भी थे। संघ के माध्यम से उन्होंने छात्र और युवाओं के अधिकार के लिए कई वर्षों से आंदोलन करते आ रहे थे।                                      रंगदारी ख़ातिर हत्या                                          सूत्रों के मुताबिक, रंजीत की हत्या आउटसोर्सिंग कंपनी में रंगदारी को लेकर हुई है। रंजीत बीकेबी साइडिंग में प्रबंधक का काम देखता था। बताया जाता है कि रंगदारी नहीं देने पर उसकी हत्या हुई है।रंजीत झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी का खासमखास था।मंगलवार सुबह ही बाबूलाल मरांडी ने विधि व्यवस्था को लेकर एसएसपी से वार्ता की थी। 20 जुलाई को झाविमो के प्रखंड उपाध्यक्ष रूपेश पासवान को गोली मारी गई थी। 21 मार्च, 2017 को धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह समेत चार लोगों की हत्या कर दी गई थी।