लालू के पुनर्विचार की अपील का जदयू पर नही हुआ असर कोविंद को ही जारी रहेगा समर्थन

पटना Live डेस्क। 17 जुलाई खातिर कॉंग्रेस ने 17 दलों का मोर्चा बनाकर मीरा कुमार को अपना राष्ट्रपति का उम्मीदवार घोषित कर दिया है। वही सूबे की महागठबंधन सरकार के मुखिया नीतीश राष्‍ट्रपति पद के लिए भाजपा के प्रत्‍याशी रामनाथ कोविंद को समर्थन दे रहे है। जदयू द्वारा भाजपा प्रत्याशी कोविंद को समर्थन देने से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद खफा हैं। उन्‍होंने नीतीश से अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की। लेकिन, इसका नीतीश पर कोई असर पड़ता नहीं दिख रहा। जवाब में जदयू के राष्‍ट्रीय महासचिव केसी त्‍यागी ने कहा है कि ऐसे बड़े फैसले सोच-समझकर किए जाते हैं, ये मिनट व सेकेंड में नहीं बदले जाते।

                      उल्लेखनीय है कि सोनिया गांधी के नेतृत्व में सत्रह विपक्षी दलों ने गुरुवार को बैठक कर पूर्व लाकसभा अध्‍यक्ष मीरा कुमार को राजष्‍ट्रपति पद के लिए अपना प्रत्‍याशी घोषित किया है। विपक्षी दलों की इस महत्‍वपूर्ण बैठक की अध्‍यक्षता कांग्रेस अध्‍यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने की। लालू प्रसाद ने मीरा कुमार का समर्थन करते हुए नीतीश कुमार को अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की।
बकौल राजद सुप्रीमो उन्‍होंने नीतीश से कहा है कि वे बिहार की बेटी (मीरा कुमार) को अपना समर्थन दें, न कि आरएसएस उम्‍मीदवार को। कहा कि वे नीतीश कुमार से बार-बार अपील करते रहेंगे कि नीतीश कुमार एेतिहासिक भूल नहीं करें।
लालू के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए जदयू के राष्‍ट्रीय महासचिव व प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा है कि रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का फैसला कई बातों पर विचार करने के बाद लिया गया है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक फैसले मिनट और सेकेंड में नहीं बदले जाते हैं। जदयू ने फैसला ले लिया है। राष्ट्रपति के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को पार्टी का समर्थन मिलेगा।