विवादित बोल को लेकर जेडीयू का राजद पर तीखा हमला,कहा-‘भाषाई लंपटई से बचे राजद’

पटना Live डेस्क. सूबे में महागठबंधन सरकार गिरने के बाद से ही जेडीयू और राजद में आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर जारी है. लेकिन यह दौर आरोपों-प्रत्यारोपों के बाद अब विवादित भाषा के इस्तेमाल के स्तर तक पहुंच गया है. इस मामले में राजद के नेता भाषा का ध्यान नहीं रख रहे और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं. खासकर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के निशाने पर सीएम नीतीश कुमार हैं और यही सवाल जेडीयू को ज्यादा चुभ रहा है. लालू प्रसाद का नीतीश कुमार के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करना जेडीयू को काफी खल रहा है और अब ऐसी बातों को जेडीयू नेता खुलकर विरोध कर रहे हैं और लालू प्रसाद पर तीखा जुबानी हमला बोल रहे हैं. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के रैली में आने वालों से एक मुठ्ठी मिट्टी लाने की अपील पर जद (यू) ने पलटवार किया है और लालू को कड़ी चेतावनी दी है.

जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि लालू भाषाई लंपटई से बचें वरना इसका परिणाम दुखद होगा. नीरज ने कहा कि खुद लालू की मिट्टी में दोष है. उन्होंने कहा कि लालू खुद 118 नरसंहार वाली मिट्टी लेकर घूम रहे हैं और फिलहाल तो वो अपनी अवैध संपत्ति की कुछ मिट्टी बचा लें.
नीरज ने कड़े शब्दों में कहा कि लालू की संपत्ति को जब्त कर सरकार उसमे अनाथालय खोलेगी. नीरज ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी के 27 अगस्त को पटना में होनेवाली लालू की रैली में शामिल नहीं होने पर भी तंज कसा है.
जदयू प्रवक्ता ने कहा कि लालू का चेहरा इतना विकृत है कि कोई भी उनके साथ खड़ा नहीं होना चाहता है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और राजद दोनों अलग एजेंडे पर काम कर रहे हैं लेकिन वो कबतक साथ रहेंगे कहना मुश्किल है.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी लालू प्रसाद ने एक सभा के दौरान नीतीश कुमार पर तीखा हमला बोला था और विवादित भाषा का इस्तेमाल किया था.