Big Breaking – शेखपुरा में जदयू नेता के भाई को घर से बुलाकर मारी गई आधा दर्जन गोलिया,मौत

पटना Live डेस्क। बिहार के शेखपुरा जिले के मेहुंश थाना अंतर्गत मेहुंश गांव में अज्ञात अपराधियों ने पूर्व मुखिया व जदयू के स्थानीय नेता के भाई शंकरदानी सिंह उर्फ नेपाली सिंह की बुधवार की शाम गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक का राइस मिल था और साथ ही रामगढ़ और रमनुबिघा गांव के बीच बघार में चिमनी भट्ठा भी चलाता था,जो कि अभी कई वर्षों से बंद पड़ा था। घटना के बाद इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है। इसके साथ आस पास के क्षेत्र में भी तनाव बना हुआ है।
पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने बताया कि मृतक का नाम शंकरदानी सिंह है। किसी व्यक्ति ने बुधवार को फोन कर एक ईंट भट्टे पर उन्हें बुलाया और उनकी गोली मारकर हत्या कर दी। इस बाबत एसपी ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर एसडीपीओ अमित शरण को भेजा गया उन्होंने बताया कि जिस किसी ने मृतक को फोन करके चिमनी भट्ठा पर बुलाया था।।उसके कॉल के आधार पर उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि फोन से बुलाये जाने के बाद गांव से एक आदमी और उनके साथ चिमनी भट्ठा पर गया था। उसकी तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि राइस मिल मालिक की हत्या पिस्टल से की गई है। घटनास्थल से आधा दर्जन कारतूस के खोखे बरामद की गई है। एसपी ने कहा कि मृतक के शरीर पर छह -सात गोलियां लगने का निशान पाया गया है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द घटना में शामिल अपराधियों को धर दबोचा जाएगा।
वही, खुरेजी की इस घटना के बाबत जदयू नेता जयराम सिंह ने अपने भाई की हत्या पुरानी रंजिश या पुराने लेनदेन को लेकर किये जाने की आशंका जताते हुए कहा कि हत्यारे की पहचान के लिए मृतक कॉल डिटेल खंगाला जा रहा है।
नेपाली सिंह की हत्या की खबर समीप से होकर गुजरने वाले राहगीरों ने गोलियों की आवाज सुनकर ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि मृतक के शरीर पर दो दर्जन से अधिक गोलियाँ दागने का निशान पाया गया है। मृतक मेहुस गांव का रहनेवाला था और उसका ससुराल घटनास्थल से महज कुछ दूर रामनुबीघा गांव में था। जहाँ उसे ससुराल की संम्पति भी मिली थी। फिलहाल वह गांव में ही राइस मिल खोलकर अपना कारोबार कर रहा था।

बाइक पर सवार होकर आए थे हत्यारे

वही सूत्रों ने बताया कि एक बाइक पर सवार होकर दो की संख्या में अपराधी घाटकुसुम्भा की तरफ से चिमनी भट्ठा पर आये थे और राइस मिल संचालक नेपाली सिंह की हत्या करके उसी रास्ते से निकल भागे।।हत्या के कारणों का अब तक पता नही चल पाया है। लेकिन इस हत्या के बाद ग्रामीण काफी दहशत में नजर आ रहे है।