Super Exclusive( वीडियो) सुशासन का हाल देखिये एक आईपीएस अफसर का कुख्यात सुपारी किलर से वार्तालाप पढ़िए …

1
39

कुलदीप भारद्वाज, पटना Live

पटना Live डेस्क। बिहार में नीतीश कुमार की सरकार है। सरकार का दावा है कि सूबे सुशासन है। लेकिन जिन कंधो पर सुशासन की जिम्मेदारी है वही शासन को धोखा दे रहे है और अपराधियों को प्रोत्साहन दे रहे है। हालात ये बन गए है अमूमन खेत के चारों तरफ कंटीली झाडियों की बाड़ लगाई जाती है इसलिए कि आवारा पशु खेत में न घुस सकें और फसल का नुकसान न हो। लेकिन क्या हो कि जब बाड़ ही खेत को खाने लगे?  बेचारी आवाम फिर क्या करे? ताले चोरों की खातिर लगाए जाते हैं लेकिन जब चौकीदार ही माल पार करने लगे तो बेचारा सूबे के व्यपारी कहां जाकर रोएगा। अब तो सूबे में यही होता दिख रहा है। रक्षक ही भक्षक हो रहे हैं और आईपीएस ही अपराधियों के खैरख्वाह बन रहे है।
इस बात का खुलासा तब हुआ जब पटना के सबसे तेजी से विकसित होते प्रखंड बिहटा में वर्चस्व को लेकर अपराधियों की सक्रियता फिर चरम पर बढ़ गई है। ताबड़तोड़ रंगदारी की मांग से व्यापारियों में दहशत का आलम है। मुख्य रूप से इस इलाके पर मुख्यतः कुख्यात मनोज सिंह और रंजीत चौधरी गैंग में रंगदारी बड़ी हिस्सेदारी की जंग जारी है। कुछ दिन शांत रहने के बाद एक बार फिर रंगदारी की मांग की गई है।
qपापअपराधी मनोज सिंह ने रविवार को स्थानीय गणपति इलेक्ट्रॉनिक्स के मालिक निशू उर्फ निशात कुमार सिंह को वाट्सएप के माध्यम से कॉल करके रंगदारी की माग की है। गिरोह ने धमकी दी है कि कुख्यात अमित एवं पवन चौधरी को रंगदारी दोगे तो हमको भी देना होगा। कारोबारी ने इस संबंध में बिहटा थाने में एफआइआर दर्ज कराई गई है।

कौन-कौन से गिरोह हैं सक्रिय

बिहटा में पुलिस के अनुसार  भोजपुर का अपराधी रंजीत चौधरी व मनोज सिंह व उसके बेटा का गिरोह प्रमुख है। मनोज सिंह व रंजीत चौधरी पूर्व से ही बिहटा में अापराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहे हैं।जबकि अमित कुमार का नाम हाल में ही सामने आया हैं। यह पप्पू सिंह का बेटा है और महाकाल बाइकर्स गैंग भी चलाता था। अमित ने ही सुपारी लेकर सिनेमा हॉल मालिक निर्भय सिंह की हत्या करवायी थी, फिलहाल फरार है। पुलिस ने अमित के फेसबुक से जुड़े युवकों को उठाया था, लेकिन वह फिलहाल फरार है।                                                                       सूत्रों के अनुसार मनोज सिंह के गुर्गो ने बाजार के कारोबारियों के बीच धमकी दी है की जब तुम लोग अमित एवं पवन चौधरी को रंगदारी दोगे तो हमको भी देनी होगी। इन तीनों गिरोहों के टारगेट पर बालू कारोबारी हैं। बिहटा पुलिस ने इस संबंध में कहा कि बहुत जल्द मामले को सुलझाकर अपराधी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं धमकी के बाद बिहटा के व्यवसायी फिर काफी दहशत में हैं।
अब तक तो आप समझ ही गये हो गए कि पवन चौधरी कितना कुख्यात है और रंजीत चौधरी गिरोह से जुड़ा हुआ है। लेकिन अब जरा उस सच को जान लीजिए जिसे पटना पुलिस ढूढ रही है। वही अपराधी जिसके बाबत दावा है कि वो कुख्यात सुपारी किलर है। मूल रूप से उदवंतनगर थाना क्षेत्र के बेलाउर गांव का निवासी गई। जिला भोजपुर पड़ता है। चुकी रहने वाला भोजपुर का है अपराध की ABCD यही से सीखी और अब जरायम की दुनिया का कुख्यात शूटर बन चुका है। दहशत का आलम इतना है कि पटना के बिहटा में उसके नाम पर रंगदारी वसूली जा रही है। लेकिन हम जो खुलासे करने जा रहे है उसका लब्बो लुआब यह है कि …स्क्रीशॉट में दावा किया जा रहा है कि एक आईपीएस से पवन की लगातार बात होती रहती है। आप भी देखिये …..क्या थी वो आप भी देखिये ….

ये तो महज झांकी है ….पूरी बातचीत अभी बाकी है ….जल्द ही करेंगे पूरा खुलासा। बस थोड़ा इंतजार …

Loading...