कैंडी टेस्ट मैच जीतकर भारत ने रचा इतिहास,देश से बाहर किया व्हाइटवाश

पटना Live डेस्क. श्री लंका की धरती पर विराट कोहली की सेना ने सोमवार को इतिहास रच दिया. 85 साल बाद 3 टेस्ट मैच की सीरीज में भारतीय टीम ने क्लीन स्वीप कर खिताब जीता है. टीम इंडिया ने पलेकेल में तीसरे टेस्ट में फॉलओऑन खेलने उतरी श्रीलंकाई टीम को 171 रन और पारी के अंतर से हराया. मंगलवार को स्वतंत्रता दिवस है और टीम इंडिया ने श्री लंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीत पूरे देश को आजादी का तोहफा दे दिया.
भारत और श्रीलंका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी टेस्ट पल्लेकले स्टेडियम में खेला गया. पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी में 487 रन बनाए. जिसके जवाब में श्रीलंका की टीम पहली पारी में 135 रन पर ही ढेर हो गई. श्रीलंका टीम की ओर से कप्तान दिनेश चांडीमल ने सबसे ज्यादा 48 रन बनाए. इससे पहले भारत ने पहली इनिंग में 487 रन बनाए थे. पहली इनिंग में टीम इंडिया को 352 रन की लीड मिली. जिसके बाद उसने फॉलोऑन खिलाने का फैसला किया. अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव ने 4 विकेट लिए. पहला ओवर कुलदीप यादव ने किया, कुलदीप के पहले ओवर में 4 रन बने. दूसरे छोर पर मोहम्मद शमी ने गेंदबाजी शुरू की. कुलदीप को केवल एक ओवर बाद आक्रामण से हटा लिया गया. उसी छोर से अश्विन को तैनात किया गया. जिसका फायदा अगली ही गेंद में टीम इंडिया को मिला. अश्विन ने करुणात्ने को स्लिप में रहाणे के हाथों कैच आउट करवाया. अश्विन को तीसरे दिन के पहले ही ओवर में सफलता मिली, गेंद को काफी उछाल मिला था जिसे बल्लेबाज संभाल नहीं पाए. क्रीज पर जम चुके एंजेलो मैथ्यूज को भी अश्विन ने पविलियन लौटाया. इसके बाद दिलरुवन परेरा को भी अश्विन ने पंड्या के हाथों लपकवाया. श्रीलंका का तीसरा विकेट पुष्पकुमारा मोहम्मद शमी का शिकार बने. ऑफ स्टम्प पर से गेंद स्विंग हुई बल्लेबाज ने ड्राइव की कोशिश की लेकिन बल्ले का बाहरी किनारा लगा और साहा के हाथों में आसान सा कैच आ गया. इसके बाद श्रीलंका का चौथा विकेट भी गिरा, मोहम्मद शमी ने कुसल मेंडिस को एलबीडबल्यू किया. बल्लेबाज काफी अक्रॉस द लाइन आ गए थे. इसके बाद गेंद और बल्ले के बीच संपर्क नहीं हो पाया। कुलदीप यादव ने 5वां विकेट झटककर भारत को सफलता दिलाई. मैच को जल्दी खत्म करने के लिए कप्तान कोहली ने 65वें ओवर में गेंद फिर से मोहम्मद शमी को थमाई. शमी ने 3 विकेट झटककर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई. इस टेस्ट सीरीज में जीत के साथ ही कप्तान के तौर पर विराट कोहली के नाम बड़ी सफलता दर्ज हो गई. विराट अब ऐसे पहले भारतीय कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने श्रीलंका के खिलाफ उसके घरेलू मैदान में 2 बार टेस्ट सीरीज जीती है. भारत ने इससे पहले वर्ष 2015 में विराट की कप्तानी में ही 2-1 से सीरीज पर कब्जा जमाया है. कोहली श्रीलंका में 4 टेस्ट जीतने वाले इकलौते विदेशी कप्तान बन गए हैं. उन्होंने यहां 3 टेस्ट जीतने का रिकी पॉन्टिग का रेकॉर्ड तोड़ दिया.