कोलंबो टेस्ट में शानदार बैटिंग के दम पर टीम इंडिया का विशाल स्कोर,श्रीलंका को मैच बचाने के लिए करनी होगी मशक्कत

पटना Live डेस्क. कोलंबो टेस्ट मैच में भारतीय बल्लेबाजों की शानदार बल्लेबाजी के चलते टीम इंडिया मजबूत स्थिति में पहुंच गई है. भारत की तरफ से जहां चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने सेंचुरी बनाई वहीं निचले क्रम के बल्लेबाजों ने भी जमकर बल्लेबाजी की.अश्विन,साहा और रविंद्र जडेजा ने शानदार बल्लेबाजी की और भारत की इस मैच में पकड़ मजबूत कर दी. चायकाल के बाद भारत ने अपनी पारी  158 ओवर में 9 विकेट पर 622 रन बनाकर घोषित की. रवींद्र जडेजा 70 और उमेश यादव 8 रन बनाकर नाबाद रहे. भारतीय टीम के इस स्‍कोर में लगभग सभी खिलाड़ि‍यों ने अहम योगदान दिया. पुजारा के 133 और रहाणे के 132 रन पर आउट होने के बाद रविचंद्रन अश्विन, ऋद्धिमान साहा और रवींद्र जडेजा ने अर्धशतकीय पारियां खेलीं. इससे पहले, मैच के शुरुआती दिन लोकेश राहुल ने भी 57 रन की पारी खेली थी.  जवाब में 5 ओवर के बाद श्रीलंका टीम का स्‍कोर एक रन पर एक विकेट है. उपुल थरंगा (0) आउट होने वाले बल्‍लेबाज हैं. दिमुथ करुणारत्‍ने 7 और कुसल मेंडिस 2 रन बनाकर क्रीज पर हैं.

पारी के दूसरे ही ओवर में श्रीलंका टीम को पहला झटका लग गया. उपुल थरंगा (0) आउट होने वाले बल्‍लेबाज रहे जिन्‍हें रविचंद्रन अश्विन ने केएल राहुल के हाथों कैच कराया. कप्‍तान विराट कोहली ने पहला ओवर मो. शमी से कराने के बाद दूसरे ही ओवर में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को आक्रमण पर लगा दिया था.

मैच के दूसरे दिन भारतीय टीम ने तीन विकेट पर 344 रन से आगे खेलना शुरू किया, लेकिन उसे जल्‍द ही चौथा झटका लग गया. दिन के दूसरे ही ओवर में दिमुख करुणारत्‍ने यह सफलता लेकर आए जब उन्‍होंने चेतेश्‍वर पुजारा (133 रन, 232 गेंद, 11 चौके, एक छक्‍का) को एलबीडब्‍ल्‍यू कर दिया. टीवी अम्‍पायर ने रिप्‍ले देखने के बाद यह फैसला गेंदबाज के पक्ष में दिया. करुणारत्‍ने का यह पहला टेस्‍ट विकेट रहा. चौथा विकेट 350 के स्‍कोर पर गिरा. पुजारा और रहाणे के बीच चौथे विकेट के लिए 217 रन की साझेदारी हुई. नए बल्‍लेबाज रविचंद्रन अश्विन ने आते ही आक्रामक तेवर दिखाए. उन्‍होंने हेराथ और इसके बाद करुणारत्‍ने के ओवर में चौका लगाया. श्रीलंका के स्पिन गेंदबाज विकेट से कुछ टर्न तो हासिल कर रहे थे लेकिन उन्‍हें विकेट लेने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही थी. भारतीय टीम को पांचवां झटका अजिंक्‍य रहाणे (132 रन, 222 गेंद, 14 चौके) के रूप में गिरा जो कि स्पिनर पुष्‍पकुमार की गेंद को उड़ाने के प्रयास में विकेटकीपर डिकवेला द्वारा स्‍टंप किए गए. पांचवां विकेट 413 के स्‍कोर पर गिरा. रहाणे ने अश्विन के साथ पांचवें विकेट के लिए 63 रन की साझेदारी की. लंच के समय तक भारतीय टीम ने पांच विकेट खोकर 442 रन बनाए थे.

लंच के फौरन बाद रविचंद्रन अश्विन ने अपने करियर का 11वां अर्धशतक पूरा किया. उन्‍होंने रंगना हेराथ की गेंद पर छक्‍का जड़ते हुए इस आंकड़े को छुआ. इसी पारी के दौरान अश्विन ने टेस्‍ट क्रिकेट में अपने 2000 रन भी पूरे किए. उन्‍होंने इस दौरान 91 गेंदों का सामना करके पांच चौके और एक छक्‍का लगाया. भारत के 450 रन 121.4 ओवर में पूरे हुए. अर्धशतक बनाने के बाद अश्विन ज्‍यादा देर नहीं टिक पाए. 54 रन के निजी स्‍कोर पर (92 गेंद, पांच चौके, एक छक्‍का) वे रंगना हेराथ की गेंद पर चकमा खा गए और बोल्‍ड हो गए. भारत का छठा विकेट 451 रन के स्‍कोर पर गिरा. आज किस्‍मत भी श्रीलंका टीम के साथ नहीं दिखाई दी. कई बार उसके गेंदबाज, भारतीय बल्‍लेबाजों को बीट करने में सफल रहे लेकिन विकेट नहीं ले सके. कुछ नजदीकी फैसले भी रिव्‍यू के बाद भारतीय टीम के पक्ष में गए.

भारतीय टीम को स्‍कोर 500 रन तक पहुंचने के पहले हार्दिक पंड्या का विकेट भी गंवाना पड़ा. हार्दिक (20 रन, तीन चौके) को पुष्‍पकुमार की गेंद पर लांग ऑफ बाउंड्री पर मैथ्‍यूज ने कैच आउट किया. टीम इंडिया का सातवां विकेट 496 के स्‍कोर पर गिरा. भारतीय टीम के 500 रन 134.3 ओवर में पूरे हुए. इस बीच ऋद्धिमान साहा ने अपना अर्धशतक 113 गेंदों पर चार चौकों की मदद से पूरा किया. यह उनके करियर का पांचवां अर्धशतक था.चाय के समय टीम इंडिया का स्‍कोर सात विकेट पर 553 रन था. ऋद्धिमान साहा 59 और रवींद्र जडेजा 37 रन बनाकर नाबाद थे.

चायकाल के बाद भारतीय टीम ने ऋद्धिमान साहा (67 रन, 134 गेंद, चार चौके, एक छक्‍का) का विकेट गंवाया. उन्‍हें रंगना हेराथ ने विकेटकीपर डिकवेला से स्‍टंप कराया. साहा और रवींद्र जडेजा की जोड़ी ने टीम के लिए अहम योगदान देते हुए आठवें विकेट के लिए 72 रन की बहुमूल्‍य साझेदारी निभाई. आठवां विकेट 568 के स्‍कोर पर गिरा. रवींद्र जडेजा ने भी आज बल्‍ले से अच्‍छा योगदान देते हुए टेस्‍ट करियर का आठवां अर्धशतक जमाया. 50 रन तक पहुंचने के लिए उन्‍होंने 70 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके और दो छक्‍के लगाए.

साहा के आउट होने के बाद भारतीय बल्‍लेबाजी में तेजी आ गई. शमी ने आते ही तेजी से स्‍ट्रोक लगाते हुए 8 गेंदों पर 19 रन की पारी खेली. हेराथ को लगातार गेंदों पर छक्‍का लगाने के बाद वे इसी शॉट को दोहराने के प्रयास में थरंगा को कैच थमा बैठे. टीम का नौवां विकेट 598 के स्‍कोर पर गिरा. अगले ही ओवर में जडेजा ने दिलरुवान परेरा को चौका लगाते हुए भारतीय पारी के 600 रन पूरे किए. 158  ओवर के बाद जब भारतीय टीम का स्‍कोर 9 विकेट पर 622 रन था तब कप्‍तान विराट कोहली ने पारी घोषित कर दी. रवींद्र जडेजा 85 गेंदों पर 70 और उमेश यादव 9 गेंदों पर आठ रन बनाकर नाबाद रहे. श्रीलंका के लिए लेग स्पिनर रंगना हेराथ ने सर्वाधिक चार विकेट लिए. मलिंदा पुष्‍पकुमार ने दो विकेट लिए जबकि करुणारत्‍ने और दिलरुवान परेरा को एक-एक विकेट मिला.