भीषण हादसा – (Live वीडियो)जमशेदपुर में अवैध पटाखा फैक्ट्री में लगी भीषण आग, लागतार होते विस्फोट से स्थित भयावह,अबतक 20 की मौत वही 60 झुलसे

0
21

पटना Live डेस्क।पड़ोसी राज्य झारखंड के जमशेदपुर जिले में सरकार अवैध पटाखा बनाने वाली कंपनियों पर कितना भी शिकंजा कसे लेकिन पटाखा बनाने वाले कारखाने पूर्णतया बंद करने में कामयाबी नही मिल पा रही है। महज चंद पैसों ख़ातिर पटाखा कारोबारी सरकार की नाक के नीचे अवैध ढंग से पटाखे बनाने से बाज नहीं आ रहे हैं। वही महज़ कुछ पैसों ख़ातिर मजदूर वर्ग के लोग जान आफत में डालकर इन अवैध फैक्ट्री में काम करते हैं और हादसों का शिकार हो जाते हैं। मामला है जमशेदपुर का जहां बिना लाइसेंस के चल रही पटाखे बनाने वाली एक फैक्ट्री में भीषण विस्फोट हो जाने से अब तक 13 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गयी है। वही कई के गभीर रूप से घायल होने की सूचना है।
जमशेदपुर के बरसोल थाना क्षेत्र में कुमारडूबी इलाके में एक अवैध पटाखा फैक्ट्री नुमा घर में भीषण आग लगी है।आग लगने के बाद से विस्फोटक एवं बारूद में रुक-रुक कर धमाका हो रहा है। इस कारण से कोई भी बचाव कर्मी पास में जाने की कोई हिम्मत नहीं कर रहा। प्रशासन मौके पर मौजूद है पर आग की लपटें इतनी तेज है कि इसकी चपेट में आकर पूरा गांव जल रहा है। घटनास्थल पर पहुंचने की किसी की हिम्मत नहीं है। गैस सिलेंडर भी तेज आवाज के साथ फट रहे हैं।


ग्रामीणों के अनुसार अबतक 20 की मौत हो चुकी है जबकि 60 से अधिक झुलस चुके हैं। मरने वालों की संख्या बढ़ने की संभावना है। एम्बुलेंस और फायर बिग्रेड ने मौके पर पहुंचकर कमान संभाल लिया है। घाटशिला के एसडीओ और डीएसपी घटना स्थल पर पहुंच चुके हैं। घायलों को टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
गांव के कई घरों में अभी भी आग लगी हुई हुई है। गांव वाले और दमकल की गाड़ी आग बुझाने की जी तोड़ कोशिश में जुटे हैं। परंतु अभी भी स्थिति बेहद भयावह बनी हुई है। ग्रामीण सूत्रों के अनुसार स्थानीय प्रशासन की मिलीभगत से कुमारडुबी गांव में कुछ लोग अवैध रूप से पटाखा बनाने का काम करते थे। साथ ही तय राशि का भुगतान कर सरकारी बाबुओं को भी अपने इस धंधे के बाबत चुप्पी ओढ़ लेने को सेट कर यह अवैध कारोबार लागतार जारी था। हद तो ये की इस भीषण दुर्घटना के बाद भी सभी सरकारी महकमो का कहना है कि किसी को इस अवैध धंधे की खबर तक नहीं थी। इस दुखद घटना के बाद जिला प्रशासन पर सवालिया निशान लग चुका है।

 

Loading...