Big News -राजधानी में हत्या के बाद लापरवाह इंस्पेक्टर को आईजी ने किया निलंबित ,कैमुर ट्रांसफर डीएसपी भी निशाने पर

0
326

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में शनिवार की अहले सुबह हुई हत्या में थानाध्यक्ष की लापरवाही सामने आयी हैं ।आईजी नैय्यर हसनैन खां के निर्देश पर एसएसपी ने गर्दनीबाग के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया हैं ।साथ ही आईजी एन एच खां ने त्वरित कार्रवाई करते हुये लापरवाह इंस्पेक्टर को कैमुर ट्रांसफर कर दिया हैं।बदमाशों द्वारा कुख्यात दीना गोप की हत्या की घटना सनसनी की तरह फैल गयी।
वरीय पुलिस पदाधिकारियों को सूचना मिल गयी ,मीडिया पर खबरें आने लगी। जब गर्दनीबाग थानाध्यक्ष शरदेंदु शरत से जानकारी मांगी गयी तो उन्हें घटना की खबर नहीं थीं और जवाब दिये की सर तुरंत जानकारी कर बताते हैं।
राजधानी में आएं दिनों बढ़ते अपराध के ग्राफ पर पुलिस मुख्यालय ने संज्ञान में लिया हैं वही जोनल आईजी नैय्यर हसनैन खां ने मामले को गंभीरता से लेते हुये लापरवाह इंस्पेक्टर शरदेंदु शरत को निलंबित करने का निर्देश एसएसपी को दिया हैं। साथ ही आईजी ने इंस्पेक्टर शरदेंदु शरत को कैमुर जिला ट्रांसफर कर दिया हैं और विभागीय जांच का निर्देश दिया हैं।
जोनल आईजी नैय्यर हसनैन खां  बढ़ते अपराध की घटनाओं को गंभीरता से लिया हैं और शनिवार को सभी जिले के एसपी के नाम आदेश पत्र जारी कर दिया।इसमें स्पष्ट तौर पर कहां गया हैं की जिस थाना क्षेत्र में अपराध का ग्राफ बढ़ता हैं और अपराधियों के गिरफ्तारी में इंस्पेक्टर की लापरवाही उजागर होती हैं उसे एसपी ,तुरंत निलंबित करें साथ ही जिला बदर करने की अनुशंसा भेजा। ऐसे थानाध्यक्षों को निलंबित तो किया ही जाएंगे ,दूसरे जिला बदर किया जाएगा। वही डीएसपी के कार्य में लापरवाही सामने आती हैं तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई के लिए पुलिस मुख्यालय को अनुशंसा भेजा जाएगा।अपराध पर लापरवाही नहीं चलेगी।वही नाकेबंदी की कार्रवाई और डीजीपी द्वारा दिये गये निर्देश को जल्द से जल्द पालन करने को आईजी ने सभी एसपी को कहा हैं।     हाल ही के दिनों में डीजीपी ने पटना जिला के अपराध की समीक्षा किया था। इस दौरान कई टिप्स पटना पुलिस को दिया था। विशेष कर जिले के नाकेबंदी पर। डीजीपी का मानना था की जैसे ही अपराध होता हैं जिले को एक समय में सभी मुख्यमार्ग को नाकेबंदी तर दिया जाएगा ताकि अपराधी नहीं भाग सके।लेकिन शनिवार की घटना में ऐसा नहीं हो सका और अपराधी घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गये। एसएसपी मनु महाराज ने इंस्पेक्टर सीपी यादव को गर्दनीबाग का कमान दिया हैं ।