BiG Breaking (वीडियो) आईजी (अभियान) कुंदन कृष्णन के नेतृत्व में एसओजी ने 50 हजार के ईनामी कुख्यात मुचकुंद शर्मा को पटना के रूपसपुर इलाके में मार गिराया

#आईजी (अभियान) कुंदन कृष्णन के नेतृत्व में SOG ने पटना जिले में आतंक का पर्याय बने मुचकुंद शर्मा को मार गिराया।
#ऑपरेशन मुचकुंद से पटना पुलिस को बिल्कुल अलग रखा गया था।
#पटना पुलिस के कमांडों मुकेश कुमार की हत्या के बाद पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी अभियान चला रखा था।

पटना Live डेस्क। गुरुवार की देर शाम बिहार पुलिस के एसटीएफ दस्ते की एसओजी वन ने राजधानी पटना में एक बेहद सफल अभियान को अंज़ाम दिया। पटना समेत सुुुबे के कई जिलों में आतंक केे आका बनकर उभरे मुचकुंद शर्मा को ने मार गिराया है। आईजी ऑपरेशन कुंदन कृष्णन खुद इस ऑपरेशन को लीड कर रहे थे। कुंदन कृष्णन की अगुवाई में ही पूरे ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है। पटना पुलिस को ऑपरेशन मुुचकुंद से पूरी तरह अलग रखा गया था।

 मुचकुंद शर्मा को मार गिराया                              

दरअसल, आईजी अभियान कुंदन कृष्णन को सूचना मिली थी कि नौबतपुर बिहटा का आतंक दानापुर इलाके में आया है।दानापुर इलाके में उसकी मौजूदगी की सूचना पर आईजी ऑपरेशन ने तत्काल एक टीम का गठन किया। एसओजी वन की टीम सीधे आईजी ऑपरेशन को रिपोर्ट कर रही थी।आईजी के निर्देश पर डीएसपी अमन कुमार, इंस्पेक्टर अर्जुन लाल, दारोगा अमरेन्द्र किशोर, दारोगा देवराज इंद्र, दारोगा मोहम्मद मुश्ताक की टीम ने जांबाजी दिखाते हुए खूंखार अपराधी को मार गिराया. दानापुर के रूपसपुर थाना क्षेत्र में दीघा तरफ जाने वाले नहर के रास्ते में मुचकुंद शर्मा को घेरने का प्रयास किया गया। एसटीएफ को देखते ही मुचकुंद शर्मा ने अपने पिस्टल से फायरिंग शुरू कर दी। एसओजी ने मुचकुंद को सरेंडर की चेतावनी दी लेकिन उसपर कोई असर नहीं हुआ।                                            तब, एसटीएफ के जांबाज कमांडो ने भी फायरिंग शुरू कर दी। एसटीएफ की फायरिंग देख मुचकुंद शर्मा भागने लगा। भागते हुए भी उसने फायरिंग की। मुचकुंद शर्मा की गोली से एक एसटीएफ़ दारोगा बाल बाल बच गया। मुचकुंद शर्मा की गोली से एसटीएफ़ की गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई। इस बीच मुचकुंद शर्मा को भी गोली लग गई। अत्याधुनिक हथियारों से लैस एसटीएफ के कमांडो ने उसे मार गिराया है।                       

पटना में मचा रखा था आतंक     

मुचकुंद शर्मा गिरोह ने पटना में आतंक मचा रखा था. बिहटा,दानापुर नौबतपुर के इलाके में उसकी तूती बोलती थी।पटना पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए एक अभियान चला रखा था लेकिन वह पुलिस के हाथ नहीं आ रहा था। स्थिति यहां तक आ पहुंची थी कि पटना के जोनल आईजी नैयर हसनैन खान को उसकी गिरफ्तारी के लिए चलाए जा रहे अभियान की मॉनिटरिंग करनी पड़ रही थी। खुद डीआईजी सेंट्रल रेंज राजेश कुमार उसकी गिरफ्तारी को एक मिशन के तौर पर ले रखे थे। हाल ही में पटना बाईपास में पटना पुलिस के एक कमांडो को उसने मार गिराया था। पटना पुलिस के कमांडो मुकेश सिंह की हत्या में मुचकुंद शर्मा का ही नाम आया था।पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज किया था।मुचकुंद शर्मा को मार गिराए जाने के बाद इसे एसटीएफ़ की बहुत बड़ी सफलता मानी जा रही है।यह भी कहा जा रहा है कि पटना पश्चिमी और राजधानी शहर के इलाके में गैंगवार के साथ साथ अपराधिक घटनाओं में भी काफी कमी आएगा।