‘ ‘हम’ ने नहीं जेडीयू ने की गद्दारी’- रामविलास प्रसाद

हिंदुस्तानी आवामी मोर्चा ने जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह के बयान पर पलटवार किया है. हम प्रवक्ता राम विलास प्रसाद ने जेडीयू प्रवक्ता के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि जिसकी जैसी भावना होती है वो उसी तरीके से दूसरों के बारे में सोचता है. हम प्रवक्ता ने संजय सिंह के जीतन राम मांझी को गद्दार कहे जाने पर कहा कि वो शायद भूल रहे हैं कि नीतीश कुमार का कद बढ़ाने वाले दिग्विजय सिंह थे. उनके साथ गद्दारी कर टिकट नहीं देने के चलते ही उनकी मृत्यु हो गई. राम विलास प्रसाद ने कहा कि दूसरा उदाहरण जॉर्ज फर्णांडिस का है,जिन्होंने करोड़ों रुपए खर्च कर नीतीश कुमार और उनकी पार्टी को वर्तमान स्थिति में लाने का काम किया,उस महान पुरुष को लोकसभा और राज्यसभा का टिकट तक नहीं देकर उनसे गद्दारी की गई,जिसके चलते आज जॉर्ज साहब बीमार होकर बेड पर पड़े हैं. इसके आगे नीतीश कुमार ने बिहार की जनता के साथ गद्दारी की, साल 2010 में बीजेपी के साथ सरकार बनाने के लिए बिहार की जनता ने उन्हें जनादेश दिया था, उस मैंडेट के विरोध में जाकर उन्होंने पीएम पद की लालसा में बीजेपी के साथ गठबंधन को तोड़ कर बिहार की जनता के साथ गद्दारी की.
हम प्रवक्ता यहीं पर नहीं रुके उन्होंने कहा कि जीतन राम मांझी को 15 महीने के लिए सीएम बनाने के लिए तत्कालीन जेडीयू ने अपना नेता चुना था. नीतीश कुमार ने तत्कालीन जेडीयू विधायक दल के साथ गद्दारी की और जीतन राम मांझी को करीब नौ महीने के अंदर ही त्याग पत्र देने की साजिश रची.