रेप मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद कोर्ट में गुरमीत राम रहीम के आंखों से छलके आंसू,खो बैठे होश हवास

19

पटना Live डेस्क. पंचकुला की सीबीआई कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ चल रहे यौन उत्पीड़न के मामले में फैसला सुना दिया है. स्पेशल जज जगदीप सिंह ने फैसला सुनाते हुए राम रहीम को दोषी करार दिया. अब इस मामले में सजा का ऐलान आगामी 28 अगस्त को होगा.

आपको बता दें कि पेशी को लिए दोपहर ठीक दो बजे गुरमीत राम रहीम पिछले दरवाजे से कोर्ट रूम में दाखिल हुए थे. उस वक्त कोर्ट में डेरा प्रमुख के वकील एसके गर्ग के अलावा हरियाणा के डीजीपी समेत कई पुलिस और सेना के अधिकारी मौजूद थे. गुरमीत राम रहीम कोर्ट के अंदर जज के सामने हाथ जोड़कर खड़े थे.

सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह ने 2 बजकर 48 मिनट पर पढ़ना शुरू किया. इस बहुचर्चित मामले में 3 बजे फैसला सुनाते हुए जज ने कहा कि ये मामला संगीन है और इसके बाद उन्होंने गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दे दिया. जिसे सुनकर वहां खामोश खड़े गुरमीत राम रहीम की आंखों में आंसू आ गए. वो एक तरह से होश हवास खो बैठे. 7 से दस मिनट तक वे शांत खड़े रहे.

फैसला सुनाए जाने के ठीक बाद गुरमीत राम रहीम को पुलिस अधिकारियों ने हिरासत में ले लिया. उसके बाद उन्हें अंबाला सेंट्रल जेल ले जाने की तैयारी शुरू कर दी गई. कुछ ही  मिनटों में कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद चुपके से उन्हें कोर्ट परिसर से बाहर ले जाया गया. पहले उन्हें मेडिकल के लिए अस्पताल ले जाया गया और फिर कड़ी सुरक्षा के बीच उन्हें अंबाला लेकर जाया गया.

फैसला सुनाए जाने से पहले ही कोर्ट परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया था. पुलिस और अर्धसैनिक बलों के अवाला सेना के जवान भी वहां तैनात किए थे. कोर्ट परिसर में फोन ले जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. जब फैसला नहीं सना दिया गया, तब तक न तो कोई कोर्ट परिसर में जा सकता था और न ही कोई बाहर आ सकता था.

इससे पहले करीब आठ सौ गाड़ियों के काफिले के साथ डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह इंसा सिरसा से पंचकुला पहुंचे थे. सुरक्षा के लिहाज से अंबाला शहर में सड़क पर ही एक टेंट के अंदर राम रहीम की कार भी बदल दी गई थी.

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख केंद्र हरियाणा के सिरसा शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है. वहीं राम रहीम के समर्थक पूरे रूट पर रोड के किनारे जुटे रहे. सड़कों के किनारे उनकी महिला अनुयायी लाठी डंडे लेकर जमी रहीं.