Super Exclusive (वीडियो) पटना जंक्शन पर पुलिसवाले की गुंडागर्दी, रेलवेकर्मी को खदेड़ खदेड़ कर पीटा, मामला दर्ज

पटना Live डेस्क। खाकी वालो को आवाम की सुरक्षा खातिर शासन ने तैनात किया है। लेकिन बदलते वक्त के साथ साथ रक्षक कब भक्षक में तब्दील हुआ इसका सही सही वक्त तारीख महिना साल बताना असम्भव की श्रेणी में आता है। खैर, खाकी वालो की करतूतें समय समय पर सुर्खियों का हिस्सा बनती है। ताजा वाकया राजधानी पटना के रेलवे स्टेशन का है। जहां रेल पुलिस ने रेलवे ककर्मचारी को ही महज छोटी सी तकरार पर खदेड़ खदेड़ कर पीटा और किसी यात्री ने उसका वीडियो शूट कर वायरल कर दिया है। घटना के बाद पीड़ित ने भी इसकी लिखित शिकायत की है।
दरअसल, वीर अर्जुन कुमार निराला भारतीय रेलवे के कर्मचारी है। शनिवार को अर्जुन अपनी बहन को पटना जंक्शन ट्रेन ओर चढ़ाने खातिर पहुचे। नियत समय पर ट्रेन आई और अर्जुन ने अपनी बहन को महिला बोगी में बैठाकर बोगी के सामने स्टेशन पर खड़े होकर ट्रेन के खुलने का इन्तजार करने लगे। इसी दौरान पटना जंक्शन पर तैनात जीआरपी हवलदार शब्बीर खान पहुचे और बड़ी बेरुखी से हड़काने वाले अंदाजे पूछा यहाँ महिला बोगी के सामने काहे खड़ा है जी? अर्जुन ने बताया बहन को गाड़ी पर चढ़ाये है,गाड़ी खुलने का इंतजार कर रहे है।इतना सुनते ही जीआरपी हवलदार ने अर्जुन को 2-3 थप्पड़ लगा दिया और कहा की भागो मैं सब समझता हूँ तुम महिला बोगी में जाने के लिए यहाँ पर खड़ा हो।
अर्जुन ने थप्पड़ खाने के बाद जब अपना परिचय देते हुते कहा कि मैं कहीं नहीं जाने वाला हूँ, मैं रेलवे कर्मचारी हूँ। इतना सुनते ही हवालदार ने गन्दी गन्दी गली देने लगा और मारने पीटने लगा और जेल में बंद करने की धमकी देने लगा। जब पीड़ित ने गाली मत दीजिये तो फिर क्या था खाकी तन पर होने की सनक ने कहर ही ढा दिया लेकिन कहते है एक तीसरी आँख होती है जो सब कुछ देखती है। ठीक ऐसा ही खुद इस घटना के साथ भी हुआ। आप भी देखिए –

वही खुद के साथ हुए मारपीट और दुर्व्यवहार लिखित शिकायत पीड़ित वीर अर्जुन ने जीआरपी को दी है। साथ ही अपने विभाग के वरीय अधिकारियों से इंसाफ की गुहार लगाई है।अब देखना दिलचस्प होगा कि पीड़ित को न्याय मिल पाता है या सिर्फ जाँच जारी है कि घोषणा ?