स्टूडेंट क्रेडिट योजना के लाभार्थियों के लिए खुशखबरी,सरकार ने उम्र सीमा में 5 से 8 साल की बढ़ोतरी की

38

पटना Live डेस्क..बिहार सरकार ने अब स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ लेने के लिए अधिकतम उम्र सीमा में 5 से 8 वर्ष तक की बढ़ोतरी कर दी है…सामान्य वर्ग के छात्र-छात्राएं 25 वर्ष की जगह 30 वर्ष, जबकि एससी-एसटी और सभी वर्गों की महिलाएं 33 वर्ष तक इस योजना का लाभ ले सकेंगे..

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर शिक्षा विभाग ने उम्रसीमा में वृद्धि का प्रस्ताव तैयार कर लिया है.. विकास आयुक्त के साथ विचार-विमर्श और कैबिनेट से मंजूरी के बाद इसे चालू वित्तीय वर्ष से ही लागू कर दिया जाएगा..

नीतीश सरकार के सात निश्चय में शामिल इस योजना के तहत छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए राज्य सरकार की गारंटी पर बैंक से 4 लाख रुपए तक लोन मिलता है.. लोन देने में बैंकों की आनाकानी को लेकर सरकार ने कई बार नाराजगी भी जताई है.. पिछले दिनों शिक्षक दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने भी कहा था कि स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में बैंकों का नकारात्मक रवैया है..

उम्र सीमा में बढ़ोतरी क्यों?

बीएड, एमएड सहित कई तकनीकी कोर्स के लिए छात्रों की उम्र अधिक हो जाती है… ऐसे में अधिकतम उम्र सीमा 25 वर्ष रहने से ये छात्र इस योजना से वंचित हो रहे थे.. छात्रों ने उम्र सीमा बढ़ाने का अनुरोध किया गया था..

सरकार इन कोर्सेस के लिए स्टूडेंट लोन देती है जिनमें ग्रेजुएशन, एमएससी, पीएचडी, बीएड, डिप्लोमा इन प्राइमरी एजुकेशन, फिजियोथैरेपी, फैशन डिजाइनिंग, एनएनएम, जीएनएम, होटल मैनेजमेंट, पॉलिटेक्निक, इंजीनियरिंग, मेडिकल, आलिम, शास्त्री शामिल हैं…