बेगूसराय: पैरों में बंधी जंजीर भी नहीं रोक सकी प्रेमियों को,घर से भागकर रचायी पड़ोसी से शादी,पंचायत ने लगाई मुहर

116

पटना Live डेस्क. ननिहाल में रहने के दौरान ही लड़की को पड़ोस में रहने वाले युवक से हो गया प्यार..फिर भला कौन सी दीवार उन्हें रोक पातीं…दोनों छुप-छुप कर मिलने लगे…जिंदगी के हसीन सपने देखने लगे…एक दूसरे से दोनों ने जिंदगी भर साथ निभाने का वादा किया…लेकिन यह बात लड़की के मामा को मंजूर नहीं थी…एक तो पड़ोस की बात दूसरी सामाजिक प्रतिष्ठा..मामा ने लड़की को पहले बहुत समझाया…मनाया..लेकिन भला प्यार की भाषा समझने वाले लोग दूसरी भाषा कहां समझते हैं…लड़की पर मामा के समझाने का कोई असर नहीं हुआ और उसने मामा की बात मानने से इनकार कर दिया…समझाने के बाद भी अपनी भांजी पर किसी बात का असर नहीं होता देख मामा ने आखिरकर लड़की के पैरों में बेड़ी लगा दी…लेकिन प्यार के दीवानों को वो बेड़ी भी नहीं रोक सकी..और लड़की ने घर में सबको सोने दिया और फिर पैर में बंधी बेड़ी को काट दिया…बेड़ियां काटकर लड़की अपने प्रेमी के साथ रात में ही फरार हो गयी और उसने लड़के से शादी रचा ली…घटना बेगूसराय जिले के बखरी थाना क्षेत्र के सोनमा गांव की है.. यहां एक लड़की पिछले कुछ दिनों से अपने ननिहाल सोनमा में रह रही थी… जहां वह पड़ोसी के साथ प्रेम विवाह कर घर बसाने का सपना देखने लगी…

दोनों के बीच चल रही प्रेम कहानी की जानकारी मिलते ही मामा अपनी भांजी सुनीता के साथ सख्ती से पेश आने लगा.. दो अक्टूबर की रात को मामा ने भांजी को जंजीर से पैर हाथ बांध दिए.. लेकिन मामा की यह सख्ती कोई असर नहीं दिखा सकी.. लड़की रात में ही जंजीर तोड़कर ननिहाल से भाग खड़ी हुई.. और सुबह प्रेमी के साथ शादी रचा ली…

सुबह मामा द्वारा कड़ा विरोध जताने के बाद गांव में पंचायत भी हुई.. पंचायत में मामा की एक नहीं सुनी और समाज के लोगों ने आपसी रजामंदी से शादी पर मुहर लगा दी..