Big News (विडियो) सीतामढ़ी कोर्ट में पेशी के दौरान कुख्यात गैंगस्टर संतोष झा की 2 गोलिया मारकर हत्या, एक हत्यारा हथियार समेत गिरफ्तार  

0
790

पटना Live डेस्क। बिहार के सीतामढ़ी जिला सिविल कोर्ट में पेशी के दौरान तीन की संख्या में रहे अपराधियों ने कुख्यात गैंगस्टर संतोष झा की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के वक्त संतोष CJM कोर्ट में पेशी देकर संतोष को बाहर लाया जाया जा रहा था, तभी अपराधियों ने उसे कोर्ट परिसर में गोली मार दी और फरार हो गए। अचनाक हुई इस गोलीबारी में कोर्ट परिसर में अफ़रातफ़री मच गई। मिली जानकारी के अनुसार कोर्ट परिसर में हुई इस खुरेजी में संतोष कुमार नामक सिविल कोर्टकर्मी भी जख्मी हो गया है।
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इस वारदात को 3 बदमाशों ने उस वक्त अंजाम दिया जब सीजेएम कोर्ट में पेशी के बाद संतोष बाहर निकला था। तभी अचानक बदमाशो ने संतोष पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। हत्यारों की टोली ने लगभग बीस राउंड गोलिया चलाई। संतोष को धराशायी कर दो बदमाश भागने में सफल रहे वही तीसरा एक बदमाश मय हथियार धर लिया गया।
जानकारी के मुताबिक संतोष झा को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के कक्ष के सामने अपराधियों ने दो गोली मारी। पहली गोली उसके सिर में लगी तो वहीं दूसरी गोली उसके सीने में लगी है। उसकी गोली लगते ही मौत हो गई थी, लेकिन पुलिस उसे आनन-फानन में अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद कोर्ट परिसर पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

कुछ दिन पहले संतोष झा के गैंग के अभिषेक झा की हुई थी हत्या

कुछ दिनों पहले संतोष झा के गैंग के शूटर अभिषेक झा की भी अपराधियों ने एेसे ही मोतिहारी अनुमंडल न्यायालय में गोली लग गई थी जिससे उसकी मौत हो गई थी। अभिषेक झा रंगदारी वसूलने के आरोप में जेल में सजा काट रहा था।

संतोष झा ने कई संगीन वारदातों को दिया था अंजाम

संतोष झा जेल में बंद था और उसके ऊपर कई संगीन वारदातों को अंजाम देने का आरोप था। संतोष झा जेल में बंद था लेकिन वह जेल के अंदर से ही अपना गैंग चलाता था। दरभंगा में हुए दो इंजीनियरों की हत्या में इसी के गैंग का हाथ था और इस मामले में कई लोगों को सजा सुनाई गई थी।

संतोष झा वही अपराधी था, जिसे पिछले साल पुलिस ने कोलकाता के एक फ्लैट से गिरफ्तार किया था। बिहार में लगभग तीन दर्जन से ज्यादा मामलों का आरोपी संतोष झा अभी जेल में बंद था।

शिवहर जिले के रहने वाला संतोष झा 10 साल से अपराध की दुनिया में सक्रिय था। वो पहले नक्सली था बाद में धीरे-धीरे उसने अपने गिरोह का विस्तार किया और गैंगस्टर बन गया था।