बड़ी खबर — ( लूट का सीसीटीवी फुटेज) 3 महीने बाद गौरीचक पेट्रोलपंप कैश लूट कांड का खुलासा, मास्टरमाइंड समेत 6 लुटेरे गिरफ्तार, शीतला माता मंदिर स्थित मिठाई दुकानदार का हत्यारा भी गिरफ्तार

147

पटना Live डेस्क। 12 जून को सरेआम दिनदहाड़े  अपराधियों ने गौरीचक इलाके में एक पेट्रोल पंप पर धावा बोल कर 19 लाख रुपये लूट लिये थे। पेट्रोल पंप कर्मचारी घटना वाले दिन यानी सोमवार की सुबह कैश जमा कराने के लिए बैंक जा रहा था इसी दौरान गिरफ्तार लुटेरों में  घटना को अंजाम दिया था। पूरी घटना बैंक के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। घटना के तुरंत बाद पटना के एसएसपी मनु महाराज खुद जांच के लिए मौके पर पहुंचे थे।

               इस लूटकांड में तीन महीने बाद आखिरकार पटना पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने तीन महीने पहले राजधानी से सटे गौरीचक पेट्रोल पंप लूट कांड मामले में छह अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने प्रेस वार्ता कर बताया कि गिरफ्तार सभी अभियुक्त पुलिस के सामने इस घटना में संलिप्तता स्वीकार किया है।बकौल एसएसपी घटना को अंजाम देने में कुल 11 अपराधी शामिल थे। लूटकांड को अंजाम देने के बाद सभी अपराधियों ने पैसे को आपस में बांट लिया था।इनमें से 6 अपराधियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। बांकी अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु कार्रवाई की जा रही है।


एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि इस घटना को अंजाम देने में बउआ गिरोह का हाथ है, हालांकि पुलिस इस गिरोह के सरगना राहुल उर्फ बउआ को गिरफ्तार करने में सफल रही है। उन्होंने बताया कि बउआ गिरोह का आतंक पटना सिटी के कई इलाके में कायम है। इस घटना को अंजाम देने के लिए बउआ गिरोह हाजीपुर और मुजफ्फरपुर से भी कई अपराधियों को शामिल किया आया था। इन अपराधियों द्वारा दर्जनों कांड को अंजाम दिया जा चुका है।

मिठाई दुकानदार हत्याकांड का शूटर गिरफ्तार

  इसी बउआ लुटेरे गिरोह के सदस्य द्वारा पिछले महीने अगमकुआं थाना क्षेत्र के शीतला मिष्ठान भंडार के मालिक कृष्णा यादव उर्फ पहलवान जी की गोली मारकर हत्या कर दिया गया था। आपको बता दें, कि गोली मारने वाला अपराधी द्वारा कृष्णा यादव उर्फ पहलवान जी एक लाख साठ हजार रुपए कर्ज लिया था।जिसके बाद पहलवान जी द्वारा पैसे के लिए तगादा और न देने पर मारपीट की बात भी कही जा रही है।जिससे परेशान होकर सिंघाडा,जो उन्हीं के दुकान में काम करता था, उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी।

स्नेहा पेट्रोलपंप लूटकांड का उद्भेदन

एसएसपी मनु महाराज ने इस कांड का खुलासा करते हुए बताया कि इस गैंग का आतंक पटना के अलावा हाजीपुर और मुजफ्फरपुर में भी था।पुलिस पकड़े गये लुटेरों से पूछताछ कर रही है। पेट्रोलपंप लूट कांड को अंजाम देने की साज़िश कुख्यात लुटेरे प्रमोद केवट ने रची थी।


12 जून को हुई इस लूट के बाद घटना स्थल पर पहुचे एसएसपी मनु महाराज ने खुद काण्ड की तहकीकात करते हुए खुद के नेतृत्व में सिटी एसपी पूर्व पटना के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया था। जिसमें अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पटना थानाध्यक्ष गौरीचक एवं विशेष सूचना के पदाधिकारियों एवं कर्मियों को शामिल किया गया था। टीम द्वारा लगातार लूटकांड से संबंधित सूचनाओं का संकलन पुराने अपराधियों का सत्यापन एवं उनकी गतिविधियों की सूचना एकत्रित की जा रही थी। इसी क्रम में वरीय पुलिस अधीक्षक को गोपनीय सूचना मिली कि पेट्रोल पंप के सामने अवस्थित एक ढाबे पर एक अपराधिक चरित्र का उठना बैठना होता है। लेकिन घटना के बाद से क्षेत्र में उसकी सक्रियता बेहद कम हो गई है। तत्काल टीम को सूचना के सत्यापन ख़ातिर एसएसपी द्वारा निर्देशित किया गया। टीम द्वारा जब चिन्हित आदमी के बाबत जानकारी इकट्ठा की गई तो पता चला वो शातिर अपराधी गुलाम मंडी चौक थाना गौरीचक पटना निवासी प्रमोद केवट है। इस कुख्यात पर कई मामले दर्ज है। वही यह भी जानकारी मिली कि यह अगमकुआ थाना क्षेत्र के कई लूटकांडो में संलिप्त रहा है और पुलिस इसको लंबे समय से तलाश रही है। घटना से पूर्व प्रमोद को पेट्रोल पंप के आसपास मंडराते देखा जाता रहा था।

पासबुक और कागजात बने अहम सुबूत

                पहचान सुनिश्चित होने पर टीम ने गुप्त रूप से मुंडिचक क्षेत्र में छापेमारी कर प्रमोद को उसके ससुराल में पकड़ा गया तलाशी के क्रम में उसके घर से लूटे गए कैश बैग में मौजूद पासबुक एवं कागजात बरामद किया गया। शुरुआती पूछ ताछ में उसने अपना नाम गलत बताते हुए खुद का गलत परिचय दिया और लूट कांड के संबंध में अपनी अनभिज्ञता जताई। लेकिन बैग और पासबुक की बरामदगी के बाद वह टूट गया और उसने कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते को बताया कि इस घटना  को कुल 11अपराधियों ने मिल कर अंजाम दिया था। प्रमोद ने यह भी स्वीकार किया कि उसने ही सभी ग्यारह को कांड करने ख़ातिर बुलाया था।


फिर सघन पूछताछ के क्रम में इसने खुलासा किया कि लंबे समय तक वह पेट्रोल पम्प के सामने बैठकर रेकी करता रहा था। पूरी जानकारी इकट्ठा करने के बाद इसने लूट कांड को अंजाम देने ख़ातिर राहुल उर्फ बउआ, कृष्णकांत तिवारी ,राहुल कुमार थाना खजकल्ला पटना सिटी समेत उस समय हाजीपुर जेल में बंद नीतीश कुमार जिला वैशाली और वाजिद अली उर्फ जंगली सहित अन्य पांच अपराधियों को स्पॉट पर जमा किया। घटना के दिन कुल साथ 7 अपराधी 3 मोटरसाइकिल से पहुचे और पेट्रोलपंप के समीप बैंक वाले रास्ते मे खड़ा हो कर पैसे लूटने के फिराक में लग गए। जैसे ही कैशियर  पैसे जमा करने बैंक के लिए निकला उसी समय अपराधियो ने कैशियर से बैंक छीन लिया जो सीसीटीवी में कैद हो गया को अंजाम दिया और फरार हो गए और हाजीपुर में इकट्ठा होकर पैसे का बंटवारा किया।…देखिये लूट का सीसीटीवी फुटेज