परिवार की सुख-शांति के लिए भगवान की भजन में लीन तेज प्रताप,करा रहे अष्टयाम

पटना Live डेस्क. कभी दुश्मन मारण जाप तो कभी वृंदावन जाकर विशेष पूजा-अर्चना. और अब घर में चौबीस घंटे का अष्टयाम. लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव का आवास इन दिनों धार्मिक आयोजनों का केंद्र बना हुआ है. तेज प्रताप अपने और अपने परिवार के उपर किसी भी तरह के संकट को खत्म करने के लिए इन दिनों भगवान की भक्ति में लीन हैं. तेज प्रताप वो हरेक उपाय कर रहे हैं जो उनके परिवार को आनेवाली मुश्किलों से छुटाकारा दिलाएगा. अभी पिछले सोमवार को ही पंडितों ने सावन की दूसरी सोमवारी के दौरान रूद्राभिषेक कराया था और अब भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए हरे राम- हरे राम का अष्टयाम. इस पूजा के लिए उनके आवास के कंपाउंड में झोपड़ी बनाई गई है और विशेष तौर पर अष्टयाम गाने वाले कलाकारों को बक्सर और रोहतास से बुलाया गया है. चौबीस घंटे चलने वाले इस अष्टयाम के बाद भंडारे का भी आयोजन कराया जाएगा.

दरअसल लालू प्रसाद का परिवार इन दिनों कोर्ट के मामलों के साथ-साथ सीबीआई की छापेमारी को लेकर खासा परेशान है. लालू और उनके परिवार के दूसरे लोगों के खिलाफ सीबीआई ने मुकदमा दर्ज किया है और वहीं दूसरी तरफ लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती ईडी की पूछताछ और आय से अधिक संपत्ति मामले में पूछताछ से परेशान हैं. तेजप्रताप के करीबी लोगों से मिली जानकारी के मुताबिक ज्योतिषों ने उऩ्हें इस सब मुश्किलों से छुटकारा पाने के लिए पूजा-पाठ कराने की राय दी है.

बताया जा रहा है कि तेजप्रताप बेहद धार्मिक प्रवृति के हैं. वो भगवान शिव की खास तौर पर पूजा-अर्चना करते हैं. तेजप्रताप ने आजकल अपनी कलाई और गले में रुद्राक्ष का धारण कर रखा है. इससे पहले तेजस्वी ने अपने आवास में बुरी छाया से खुद को अपने परिवार को बचाने के लिए दुश्मन मारण जाप भी कराया था।