बिहार में बाढ़ की हालत बिगड़ी,एनडीआरएफ ने संभाला मोर्चा

19

पटना Live डेस्क. राज्य के बाढ़ प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ ने मोर्चा संभाल लिया है और पीड़ितों के बचाव और राहत में लग गयी है. एनडीआरएफ की इस टीम में 160 जवान शामिल हैं जो बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य चला रही है. किसी भी विशेष परिस्थिति से निपटने के लिये सेना की एक टीम भी देर शाम पूर्णिया पहुंचने वाली है जो पूर्णिया में रहकर किशनगंज में उत्पन्न होने वाली विशेष परिस्थिति से निपटेगी. बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत औऱ बचाव के लिए उड़ीसा के भूवनेश्वर से एनडीआरएफ की टीम विशेष विमान से पूर्णिया के चूनापुर सैन्य हवाई अड्डे पर उतरी है.

वहीं, पूर्णिया के बाढ़ प्रभावित इलाकों में सोमवार से सूखा राशन राहत पैकेट का वितरण शुरू किया जायेगा. इसके लिये राज्य सरकार द्वारा हेलीकॉप्टर को पूर्णिया भेज दिया गया है. जिलाधिकारी प्रदीप कुमार झा ने बताया कि 50 हजार सूखा राशन पैकेट तैयार कर लिया गया है जिसको आज से हेलीकॉप्टर से प्रभावित इलाकों में गिराने का काम शुरू किया जायेगा.

बाढ़ प्रभावित इलाके में फंसे लोगों को निकालने का काम एसडीआरएफ की टीमों द्वारा शुरू कर दिया गया है. एनडीआरएफ की टीम रविवार की रात से ही प्रभावित इलाकों में मोर्चा संभाल लिया है. वहीं, पूर्णिया पहुंचे राज्य सरकार के उद्योग विभाग के सचिव एस सिद्धार्थ ने भी प्रभावित क्षेत्रों में चलाये जा रहे राहत एवं बचाव कार्य के संबंध में जिलाधिकारी से जानकारी ली.

 

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि सबसे ज्यादा असर किशनगंज, पूर्णिया, अररिया, कटिहार के अलावे बेतिया व मोतिहारी में भी बाढ़ का असर है. एनडीएआरएफ की पांच टीम किशनगंज, दो पूर्णिया, एक अररिया में तैनात कर दी गई है साथ इन सभी जगहों पर एसडीआरएफ की टीम भी भेजी जा रही है.