वैशाली एमपी रामा सिंह के इकलौते बेटे का शव पटना आवास पर,गंगा किनारे होगा दाह संस्कार

0
92

पटना Live डेस्क। ये वही घर है जहाँ से महज कुछ घंटे पहले राजीव हँसते हुए विदा हुए थे। पत्नी को जल्द आने की बात कह कर माँ का आशीर्वाद और बहनो से विदाई लेकर अपनी कार से हिमाचल प्रदेश के खुड्डा के लिए रवाना हुए रहे थे।खुड्डा में वह केनरा बैंक के एक ब्रान्च में अधिकारी थे। लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था। सब को हँसते हसाते रहने वाला राजीव इस बार बहुत जल्दी पटना लौट पर निष्प्राण होकर।

जहां उसके हँसी के ठहाके गुंजा करते थे,आज वहाँ उसके याद में चीत्कार मची है। पिता रामा किशोर बार बार फफक पड़ रहे है। वही माँ को अब भी यक़ीन है बेटा उठ बैठेगा पर नही अब उनका लाडला कभी न टूटने वाली चिर निद्रा में सो चुका है। वही तीनो बहनो ऋचा, सरिता और श्वेता और पत्नी के आंसू सुख चुके है। नियति के क्रूर हाथों ने वैशाली सांसद को दुनिया का सबसे बड़ा गम दिया है अपने जवान बेटे की लाश उन्हें कंधों पर उठानी पड़ेगी। यही राजधानी पटना के गंगा तीर पर राजीव के पार्थिव शरीर को पंचतत्व में विलीन करने की तैयारियां शुरू हो चुकी है।

सनद रहे कि इलाहाबाद में सड़क दुर्घटना में अपने इकलौते पुत्र की मौत के बाद शव का पोस्टमार्टम के उपरांत शव लेकर सांसद अपने पटना स्थित राजीवनगर आवास पर पहुच गए है। सांसद के घर पहुचते ही परिजनों के चीत्कार से माहौल गमगीन हो गया। राजीव नगर आवास पर सांसद के समर्थकों और रिश्तेदारों के आना लगातार जारी है। वही दिवंगत के जानने वालों का कहना है कि लोगों का कहना था कि राजीव बेहद मिलनसार स्वभाव का था और वह हमेशा हंसता मुस्कुराता रहता था। तीन बहनों का इकलौता भाई राजीव अपने परिजनों का बेहद लाडला था।


मिली जानकारी के अनुसार पटना से दिल्ली जाते समय वैशाली के सांसद राम किशोर के बेेटे राजीव कुमार सिंह उर्फ राहुल की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। वह पटना से दिल्ली के लिए होंडा सिटी से जा रहे थे। हंडिया-कोखराज फोरलेन पर सोरांव के निकट उनकी कार ट्रक में घुस गई। ग्रामीणों की सूचना पर 100 डायल सेवा पुलिस ने एंबुलेंस से उनको उपचार के लिए एसआरएन में भर्ती कराया। यहां उपचार के दौरान राजीव कुमार ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने देर शाम शव का पोस्टमार्टम कराया,पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उनकी मौत सिर में चोट लगने के कारण हुई है।


वैशाली के सांसद राम किशोर सिंह के बेटे राजीव कुमार सिंह हिमाचल प्रदेश के खुड्डा जा रहे थे। खुड्डा में वह केनरा बैंक में अधिकारी थे। वह पटना से दिल्ली होकर हिमाचल प्रदेश जा रहे थे। हादसे के वक्त राजीव अपनी होंडा सिटी कार खुद ही ड्राइव कर रहे थे। फोरलेन हाई वे पर दोपहर करीब डेढ़ बजे उनकी कार के आगे ट्रक चल रहा था। जिसकी स्पीड कम थी, कई बार हार्न देकर साइड भी मांगी। उसी दौरान अचानक राजीव की होंडा सिटी कार आगे चल रहे ट्रक में घुस गई। ग्रामीणों की सूचना पर घटना स्थल पर पहुंची 100 डायल सेवा और 108 एंबुलेंस को बुला लिया। पुलिस कर्मियों ने दुर्घटना में गंभीर घायल राजीव की जेब से आई कार्ड तथा अन्य प्रपत्र निकाले तो पता चला कि वह वैशाली के लोजपा सांसद रामा किशोर सिंह के बेटे हैं। तुरंत यह जानकारी एसएसपी तथा अन्य अधिकारियों को दी गई । उन्होंने करछना सीओ अलका भटनाकर को घटना स्थल पर व्यवस्था कराने के लिए भेज दिया।


सड़क दुर्घटना की खबर मिलते ही सांसद खुद इलाहाबाद के लिए रवाना हो गए। रास्ते से ही उन्होंने फोन कर वाराणसी में रह रहे अपने रिश्तेदार नरेश राय व मिर्जापुर से महेंद्र राय को देखभाल के लिए इलाहाबाद भेजा।जो कि शाम को एसआरएन अस्पताल आए। यहां पर उनको पता चला कि राजीव की उपचार के दौरान मौत हो गई है। रिश्ते के चाचा नरेश ने बताया कि राजीव सांसद के इकलौते बेटे थे। तीन साल पहले शादी हुई थी।