Exclusive( वीडियो) बिहार से बर्मा तक सुल्तानिया के काले साम्राज्य का सच, देखे हाई टेक मशीनों से सुसज्जित फैक्ट्री

आंनद पाठक संग ब्रिज भूषण कुमार 

पटना Live डेस्क। बिहार की राजधानी पटना के औद्योगिक क्षेत्र में सिगरेट की फैक्ट्री का सच जानकर आप हैरान रह जायेंगे।पटना के फतुहा थाना क्षेत्र अखुली इलाके में राजकुमार सुल्तानिया द्वारा अवैध रूप से सिगरेट बनाने का धंधा लंबे दौर से जारी था। लेकिन पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज की नज़रों से आखिर कब तक बच पाता यह गोरखधंधा और फिर एसएसपी के निर्देश पर पटना पुलिस द्वारा जब दलबल के साथ मौके पर पहुंचकर जब छापेमारी की गई, तो एक से एक नए कारनामे पुलिस को देखने को मिलें। यहां तक कि उत्पाद विभाग का वॉइस (लाइसेंस) भी निर्गत नहीं कराया गया था। इसके अलावा जो सिगरेट का उत्पादन कंपनी द्वारा किया जाता था वह मेड इन बर्मा दिखाया जाता था। इसके लिए भी उनके पास कोई कागजात उपलब्ध नहीं है।

पटना पुलिस की इस बड़ी कार्रवाई की खबर राजधानी के विजनस जगत में आग की तरह फ़ैल गई है। मिल रही जानकारी के मुताबिक़ पटना पुलिस ने राजकुमार सुल्तानिया को शुक्रवार की रात ही कस्टडी में ले लिया था। इसके बाद लगातार पूछताछ और छापेमारी की कार्रवाई चल रही है। फतुहा थाना क्षेत्र के जेठुली में सिगरेट की फैक्ट्री है। बताया जा रहा है कि इसमें पुलिस की जांच में बड़ा झोल मिला है। ख़ुफ़िया सूचना के आधार पर पुलिस की बड़ी टीम ने रेड किया था।जानकारी के मुताबिक़ इस रेड के दौरान ब्रांडेड सिगरेट के नकली संस्करण बनाने के कई प्रमाण मिले हैं। बहुत कुछ जब्ती हुई है।इस जब्ती के बाद धंधे के और जानकारों के बारे में पता किया जा रहा है। पूछे जाने पर पुलिस के अधिकारी डीएसपी अनोज कुमार ने बताया कि …

लेकिन कार्रवाई को पूर्ण होने में अभी और वक़्त लगेगा. पुलिस के ही एक अधिकारी ने कहा कि मामला कस्टम और सेंट्रल एक्साइज का भी है। जरूरी सूचना आवश्यक होने पर संबंधित विभाग को दी जायेगी।खबर लिखे जाने तक पुलिस कस्टडी में रहे राजकुमार सुल्तानिया को फतुहा में रखा गया था।राजकुमार सुल्तानिया की पुरानी हिस्ट्री भी है। पुलिस उसे खंगाल रही है। प्राप्त हो रही खबर के मुताबिक़ वे पहले भी जेल जा चुके हैं। मामला गोरखधंधा का ही था। राजकुमार सुल्तानिया को पुलिस कस्टडी में लिए जाने की खबर राजधानी के बिज़नस सर्किल में भी बहुत तेज फैली हुई है। कोशिश बचा पाने की रात को रेड के वक़्त से ही हो रही है।लेकिन मामला  पटना पुलिस के सीनियर ऑफिसर्स के संज्ञान में आ चुका है। अतः आखिरकार फिर सुल्तालिया जेल भेज दिया गया।