Exclusive – शराबी भाई को नशीला पदार्थ लेने पर रोक लगाना एक बहन को पड़ा महंगा, नशे की हालत में अपनी सगी बहन को मारपीट कर के घर में लगाया आग

बृज भूषण कुमार, संवाददाता, पटना सिटी

पटना Live डेस्क। सूबे के सरबरा नीतीश कुमार ने बड़ी उम्मिदों और लाखों औरतों की मनुहार की पीड़ा को महसूस करते हुए ,सूबे में पूर्ण शराबबंदी की घोषणा की। लाखों लाख घरों को नशे की मजबूत पकड़ से मुक्ति दिलाने की पहल के तौर पर पूर्ण शराबबंदी को ज़मीनी हकीकत में तब्दील किया गया। लेकिन सरकार की तैयारी आधी अधूरी और पैसे खातिर कुछ भी कर गुजरने को तैयार धनपशुओं का समूह जिन्हें माफिया कहे तो ज्यादा बेहतर होगा ने इस बेहद आवश्यक- जरूरी मुहिम की कमर तोड़ कर रख दी है। हालात ये बने है कि शराब नही तो अन्य नशीले पदार्थों से नशे के आदि अपनी नशे की लत को बुझाने लगे है। हालात इस कदर बिगड़ रहे कि कल को ये महामारी का स्वरूप बन सकती है। वही शराब बंद होने के बाद नशे के गुलाम लोग अब नाना प्रकार के नशीली पदार्थो का सेवन कर रहे है। यानी पूर्ण शराबपूर्ण बंदी के बाद भी अभी भी बहुतो का घर बर्बाद हो रहा है।

इसी कड़ी में ताजा मामला पटना सिटी के खाजेकला थाना क्षेत्र के टिकिया टोली इलाके की रहने वाली शवनम खातून को अपने भाई को नशा करने से रोकना महंगा पड़ा,भाई ने अपने ही बहन के घर में पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। जिससे घर में रखा फ्रिज ,टीवी ,कपडा और कीमती सामान जल कर खाक हो गया। हालांकि आगलगी की घटना की सुचना फायर बिग्रेड को दी गई। वही मिनी फायर बिग्रेड की गाड़ी लेकर पहुंचे जवानो और स्थानीय लोगो ने आग पर काबू पाया। तब तक घर का सारा सामान जल कर ख़ाक हो गया। बताया जाता है की ऑटो चालक जमील अक्सर नशा कर अपने बहन शबनम के घर आता था और नशा का विरोध करने पर उसके साथ मार पीट करता था।

     ।शबनम की माने तो वो अपने छोटे भाई को नशा से मुक्त करना चाहती थी। इसलिए वो अपने भाई को नशा करने से मना करती थी पर इस बार मना करने से जमील घर में पेट्रोल छिट कर आग के हवाले कर दिया। शबनम ने सरकार से मांग की है की जिस तरह से शराब पर पावंदी लगाया गया है उसी तरह स्मैक जैसे सभी नशीली पदार्थो पर भी रोक लगाना चाहिए ताकि नशे के चलते किसी का घर बर्बाद न हो।