Exclusive(Video)-बिहार के सबसे बड़ी गौशाला में गऊ माता पर अत्याचार, दिखी तड़पती बीमार गाय

0
157

ब्रिज भूषण कुमार, संवाददाता, पटना सिटी
पटना Live डेस्क। पूरे मुल्क में गाय पर सियासत सरगर्म है। आये दिन इस बाबत खबरो से समाचार जगत अटा रहता है। गौ माता पर अत्याचार और बूचड़खाने पर केंद्र सरकार द्वारा अहम फैसले लिए जाते है। वही देश भर में कई संगठन है जो गाय के नाम पर अपनी सियासत चला रहे है। वही लगातार मुल्क की सियासी जमात एक दूसरे पर आरोप और प्रत्यारोप भरा बयानबाजी भी करती रहती है। इस मामले की गूंज बिहार में अक्सर बनी रहती है।
गाय पर अत्याचार पर लगातार होने वाली सियासी बयानबाजी और इसकी ज़मीनी हकीकत क्या है इसको लेकर “पटना Live” के रिपोर्टर ने  ने बिहार के सबसे बड़ी गौशाला राजधानी के पटना सिटी स्थित श्रीकृष्ण गौशाला का जायजा लेकर सच की दरयाफ़्त की तो गौ सेवा की हकीकत खुल कर सामने आ गई। हकीकत में इस गौशाला बिल्कुल स्याह और हालात बेहद खराब है। गौशाला में गायें सुरक्षित तो  नहीं ही है उल्टा गायों पर यहां लगातार अत्याचार हो रहा है। उल्लेखनीय है कि यह गौशाला उस विधान सभा क्षेत्र में है जहाँ से बिहार भाजपा के वरीय नेता नंद किशोर यादव बतौर विधायक सियासत में सफलता की सीढ़ियां चढ़ते हुये बिहार में मंत्री पद को सुशोभित कर चुके है।भाजपा विधायक भी गाय को लेकर बहुत मुखर रहे है।

केंद्र की भाजपानीत सरकार गौ रक्षा को लेकर बेहद कड़े कदम उठाये है।बूचड़ खानो को भी बंद कर करने का दिशानिर्देश भी दिया है। पर हालात ये है कि तस्कर पशुओ के तस्करी करने से बाज नहीं आ रहे है।ताजा मामला है,पटना सिटी के अगमकुआं थाना क्षेत्र के जीरो माइल स्थित एनएच -30 फोरलेन का है। जहाँ पुलिस ने मांस तस्करी के लिए बंगलादेश बॉर्डर ले जा रहे गाय और बछड़ा समेत 18 पशुओ के एक ट्रक को बरामद किया। साथ ही 4तस्करो को भी गिरफ्तार किया। पुलिस की माने तो जीरो माइल स्थित फोरलेन पर गश्त के दौरान ट्रक की तालाशी ली गई। तलाशी के दौरान 18 पशुओ के साथ गिरफ्तार तस्करों ने खुलासा किया है की सभी गायो को छपरा से ट्रक पर लाद कर मांस तस्करी के लिए बगला देश के बॉर्डर ले जा रहे थे। फ़िलहाल अनुमण्डलाधिकारी के आदेश पर पटना सिटी डीएसपी ने बरामद सभी गाय को पटना सिटी चौक के किलारोड स्थित श्री कृष्ण गौशाला में रखा है।


बरमाद गायों को इसी श्रीकृष्ण गौशाला में रखा गया है ताकि गायो को सुरक्षित रखते हुए उन्हें भोजन पानी दिया जा सके। लेकिन गौ सेवा के बदले यहां तो उनपर अत्याचार किया जा रहा है। बरामद गायों में से एक बीमार गाय को युही मरने के लिए छोड़ दिया गया है। ज़मीन पर पड़ी यह गाय पल पल तड़पती अपनी मौत का इंतज़ार कर रही है, पर गौशाला के प्रबंधकों और सेवको की मोटी चपडी पर जु तक नही रेंग रही है।अब आप स्वयं सोचे गौ सेवा की हकीकत है।


ख़ैर, गाय की गंभीर अवस्था की जानकारी देखकर सूचना मिलने पर पटना सिटी के बजरंग दल के कार्यकर्ता राहुल कुमार ने अपनी पूरी टीम की मदद से बीमार गाय का इलाज करा रहे है। राहुल कुमार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुहार लगाई की बिहार सरकार गौ माता पर हो रहे है अत्याचार पर तत्काल रोक लगाए नहीं तो हमलोग आंदोलन करेंगे और गौ माता की रक्षा के लिए तत्पर और तैयार है।